#🙌 मेरे करतब👍 #☝ मेरे विचार
🙌 मेरे करतब👍 - उलझी पड़ी हैं ज़िन्दगी इन रेल की पटरियों की तरह . . . रास्ते तो बहुत हैं पर . . समझ में नही आ रहा चलना किस पर हैं . . ! ! ! - ShareChat
39.6k ने देखा
1 महीने पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post