🙏 प्रेरणादायक विचार - G / रिश्तो का अहसास एक बेहतरीन पारिवारिक पेज ये कछुआ बहुत खुश हैं , क्योंकि ये आज़ाद हो गया । । परंतु इस मासूम को ये अंदाज़ा नहीं कि आज़ादी के नाम पर इसने खो क्या दिया हैं ? ऐसी ही आज़ादी आजकल की युवा पीढ़ी को चाहिए । आज़ादी अपनी संस्कृति से , आज़ादी संस्कारों से और आज़ादी अपने बड़ो से । हमारी संस्कृति और संस्कार बोझ नहीं बल्कि हमारा सुरक्षा कवच हैं . . - ShareChat
63 ने देखा
1 महीने पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post