💕🌹💕 ISHQ _E_GHAZAL 💕 🌹 💕 #🎼 ग़ज़ल #✒ शायरी
🎼 ग़ज़ल - एक बार ही बहकती हैं ये नज़रें , किसी को देखकर . . . . ये इश्क़ है साहेब . . सौ बार नहीं होता ! ! - ShareChat
53.1k ने देखा
1 महीने पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post