*हे गोबिंद ...🌹🌱* "श्याम पिया मोरी रंग दे चुनरिया, श्याम पिया मोरी रंग दे चुनरिया, बिना रंगाये मैं घर नही जाऊंगी *बीत ही जाए चाहे सारी उमरिया...!!"🌹🍃* "हरी ना रंगाऊं मैं तो पीली ना रंगाऊंगी अपने ही रंग मे रंग दे सँवरिया,अरे ऐसा रंग दे जो रंग नाही छूटे, *धोबिया धोए चाही सारी उमरिया...!!"🌹🍃* "जो नाही रंगाओ तो मोल ही मंगाये दो,ब्रज में खुली है प्रेम बज़रिया,या चुनरी को ओढ़ मैं यमुना पे जाऊंगी, *श्याम की मुझ पे पड़ेगी नज़रिया...!!", 🌹🍃* *!! राधा रमण को समर्पित !!*
🌸 जय श्री कृष्ण - शोक से तू मेरा इम्तहान ले तेरे कदमों में रख दी है जान रे श्री कृष्णा - ShareChat
218 ने देखा
24 दिन पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post