krishna krishna - दर्द कितने भी हो दिल में मुसकराते रहीए , ज़ख्म कितने भी गहरे हो खिलखिलाते रहीए , नगर जो गिरी एक आंसू तो तमाशा हो आ जाएगा , पोछने वाले कम और वजह पूछने वाले का अंबार लग जाएगा । अनमोल सुविचार - ShareChat
338 ने देखा
1 महीने पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post