: *किसी से बदला लेने का नहीं अपितु स्वयं को बदल डालने का विचार ज्यादा श्रेष्ठ है। महत्वपूर्ण यह नहीं कि दूसरे आपको गलत कहते हैं अपितु यह है कि आप गलत नहीं करते हैं।* *बदले की आग दूसरों को कम, स्वयं को ज्यादा जलाती है। बदले की आग उस मसाल की तरह है जिसे दूसरों को खाक करने से पहले स्वयं को राख होना पड़ता है। इसीलिए सहनशीलता के शीतल जल से जितना जल्दी हो सके इस आग को भड़कने से रोकना ही बुद्धिमत्ता है।* *बदले की भावना केवल आपके समय को ही नष्ट नहीं करती अपितु आपके स्वास्थ्य को भी नष्ट कर जाती है। अत: प्रयास जरूर करो मगर बदला लेने का नहीं अपितु स्वयं को बदल डालने का।* *Զเधॆ- Զเधॆ*🙏​​​​​​🙏 *कहने वाले कुछ भी कहते रहते हैं,* *ख़ामोशी से हम सब सहते रहते हैं...* *कुछ दरिया में बहने वाले होते हैं,* *कुछ के अंदर दरिया बहते रहते हैं...* ༺꧁ Զเधॆ Զเधॆ꧂༻ 💕 जय श्री कृष्ण जी 💕 गमों के सागर में डूब मत जाना.. मंजिल ना मिले तो टूट मत जाना.. अगर जो जिंदगी में कोई कमी महसूस हो तो राधेजी हर पल साथ हैं ये भूल मत जाना.. *🙏🏻🌹ना चिंता ना भय🌹🙏🏻* *🌹🙏🏻श्री राधे राधे.... जी..🙏🏻🌹* *जब चलना नहीं आता था, तब कोई गिरने नहीं देता था..* *और जब चलना सीख लिया तो, हर कोई गिराने में लगा है....!!* *यही जीवन की सच्चाई है*...,अब बस श्याम बाबा का सहारा ह।। 🙏🏻🙏🏻🙏🏻 जय श्री श्याम 😭 ✍ *हर रिश्ते में अमृत बरसेगा...* *शर्त इतनी है कि..,* *शरारतें करो पर, साजिशे नहीं....!!* *🙏🏻जय श्री श्याम*🙏 *कहने वाले कुछ भी कहते रहते हैं,* *ख़ामोशी से हम सब सहते रहते हैं...* *कुछ दरिया में बहने वाले होते हैं,* *कुछ के अंदर दरिया बहते रहते हैं...* ༺꧁ Զเधॆ Զเधॆ꧂༻ 💕 जय श्री कृष्ण जी 💕 गमों के सागर में डूब मत जाना.. मंजिल ना मिले तो टूट मत जाना.. अगर जो जिंदगी में कोई कमी महसूस हो तो राधेजी हर पल साथ हैं ये भूल मत जाना.. *🙏🏻🌹ना चिंता ना भय🌹🙏🏻* *🌹🙏🏻श्री राधे राधे.... जी..🙏🏻🌹 *जब चलना नहीं आता था, तब कोई गिरने नहीं देता था..* *और जब चलना सीख लिया तो, हर कोई गिराने में लगा है....!!* *यही जीवन की सच्चाई है*...,अब बस श्याम बाबा का सहारा ह।। 🙏🏻🙏🏻🙏🏻 जय श्री श्याम 😭 ✍ *हर रिश्ते में अमृत बरसेगा...* *शर्त इतनी है कि..,* *शरारतें करो पर, साजिशे नहीं....!!* *🙏🏻जय श्री श्याम*🙏🏻
143 ने देखा
27 दिन पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post