🔐 ग्रुप: जिंदगी फिर नहीं मिलेगी - ज़िन्दगी . जिनके पास अपने हैं , वो अपनों से झगड़ते हैं . . . जिनका कोई नहीं अपना , वो अपनों को तरसते हैं . . । कल न हम होंगे न गिला होगा । सिर्फ सिमटी हुई यादों का सिललिसा होगा । जो लम्हे हैं चलो हंसकर बिता लें । जाने कल जिंदगी का क्या फैसला होगा । - ShareChat
49.8k ने देखा
1 महीने पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post