#🖊 एक रचना रोज ✍ #🎙 स्वरचित साहित्य #✍️अल्फ़ाज़✍️ #📖 कविता #☝ मेरे विचार
🖊 एक रचना रोज  ✍ - झूठ भी बोलना पड़ता हैं , सच भी छुपाना पड़ता हैं ज़िन्दगी जीने के लिए हर रास्ता अपनाना पड़ता हैं शरीफ लोगों को जीने कहा देते हैं कभी कभी बुरा भी बन जाना पड़ता हैं ये ज़िन्दगी हैं साहब . . . यहाँ दर्द छुपाकर भी मुस्कुराना । पड़ता हैं INSTAGRAM THE _ MY _ WORDS _ - ShareChat
124.5k ने देखा
1 महीने पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post