✌️यशस्वी जीवन - छिपाइये पीजिये उमर और कमाई , चाहे पूछे सगा भाई । | दुध खड़े होकर , दवा पानी बैठ कर । भुलिये करिये लाइये अपनी बाई को और ' दुसरों की बुराई को । आयें का मान , जाते का सम्मान । घर में चीज उतनी , काम आवे जितनी । fridiano राम राम जी खाइये रखिये दाल , रोटी , चटनी चाहे कितनी भी हो कमाई अपनी । । याद कर्ज के चुकाने की , मर्ज के मिटाने की । राधे राधे बोलिये जाईये जबान संभाल कर , थोडा बहुत पहचान कर | दुःख में पहले , सुख में पीछे । - ShareChat
189 जणांनी पाहिले
1 वर्षांपूर्वी
इतर अॅप्स वर शेअर करा
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करा
काढून टाका
Embed
मला ही पोस्ट रिपोर्ट करावी वाटते कारण ही पोस्ट...
Embed Post