✒ शायरी - डरते है आग से कही जल न जाये डरते है ख्वाब से कहीं टूट न जाये लेकिन सबसे ज़्यादा डरते है आपसे _ _ _ कहीं आप हमे भूल न जाये 2pmarwm27 शुभा सध्या - ShareChat
17.1k लोग देखलें
6 दिन पहिले
दुसरे ऍप्स पर शेयर करीं
Facebook
WhatsApp
लिंक के कॉपी करीं
डिलीट करीं
Embed
हम ई पोस्ट क विरोध कर रहल बानी काँहे की इ पोस्ट। ..
Embed Post