*जिन्दगीं को देखने का* *सबका* *अपना अपना नजरिया होता है* *कुछ लोग भावना में ही* *दिल की बात कह देते है,* *और...* *कुछ लोग गीता पर हाथ* *रख कर भी सच नहीं बोलते* 🌹*शुभ प्रभात good morning,
127 ने देखा
8 महीने पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post