दिसंबर का महीना भी बीत गया और मुलायम का जन्मदिन भी। दो साल से सैफई में न तो बॉलीवुड के हीरो हिरोईन नाचे और न ही मुलायम के लिये इंग्लैंड से बग्गी आई। "सारा शौक सरकारी पैसे से जो होता था अब सरकारी पैसे से कुम्भ होता है। यही फर्क है।"
162 ने देखा
12 महीने पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post