#📒 मेरी डायरी
📒 मेरी डायरी - वो नाराज़ हैं हमसे कि हम कुछ लिखते नहीं ; कहाँ से लाएं लफ्ज़ जब हमको मिलते नहीं , दर्द की जुबान होती तो बता देते शायदा वो ज़ख्म कैसे दिखाए जो दिखते नहीं । - Kashi mishra YourQuote . in - ShareChat
140 ने देखा
1 महीने पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post