शुभरात्रि - शुभ रात्रि कुछ गहरे रिश्ते भी | अजीब होते है । | सब अपने - अपने नसीब ! होते है । रहते है निगाहों से दूर वहीं दिल के करीब शुनैदा होते है । जैसे की आप Tey Graphics - ShareChat
7.1k views
9 days ago
Share on other apps
Facebook
WhatsApp
Copy Link
Delete
Embed
I want to report this post because this post is...
Embed Post