🕋जुमा मुबारक🕋 - 3ab . in जम्मा MUBARAK अस्लामअलयकमा * मोमिन के लिए जान - ए - हस्ती है नमाज * * ईमाम के आगोश में बसती है नमाज * * मिलती नही मेहसर में किसी भी कीमत पर * * ज़िन्दगी वालो पढ़ लो अभी सस्ती है नमाज * में क्या लिखू हम्द उस रब के लफ़्ज़ों में * । * जो उससे ना मांगो तो नवाज देता है * 1 * ओर मांग लो तो बेहिसाब देता है । Arab - zHEN ab . z - ShareChat
7.5k ने देखा
1 महीने पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post