मेरे विचार - किसी को तकलीफ देना मेरी आदत नही , बिन बुलाया मेहमान बनना मेरी आदत नही . . . मैं अपने गम में रहता हूँ नबाबों की तरह , परायी खुशियों के पास जाना मेरी आदत नही . . . ! सबको हँसता ही देखना चाहता हूँ मैं , किसी को धोखे से भी रुलाना मेरी आदत नही . . . ! बांटना चाहता हूँ तो बस प्यार और मोहब्बत , यूँ नफरत फैलाना मेरी आदत नही . . . ! जिंदगी मिट जाये किसी की खातिर गम नही , कोई बद्दुआ दे मरने की यूँ जीना मेरी आदत नही . . . ! सबसे दोस्त की हैसियत से बोल लेता हूँ , किसी का दिल दुखा दें मेरी आदत नही . . . ! दोस्ती होती है दिलों से चाहने पर , जबरदस्ती दोस्ती करना मेरी आदत नही . . . . . . . . . . - ShareChat
250 ने देखा
1 साल पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post