❤ गुड मॉर्निंग शायरी👍 - ये आरजू नहीं किसी को भुलायें हम , न तमन्ना है किसी को रुलायें हम , पर दुआ है उस रब से कि , जिसे जितना याद करते हैं उसको उतना याद आयें हम । शुभ प्रभात . . शुभ दिन - ShareChat
164 ने देखा
1 महीने पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post