✍️अल्फ़ाज़✍️ - वास्ता नहीं रखना , तो नजर क्यों रखते हो , किस हाल में जिंदा हूं खबर क्यों रखते हो . . . . - ग़ालिब - ShareChat
136.3k ने देखा
1 महीने पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post