ना गगन बदला ना चमन बदला लास वही है सिर्फ कफ़न बदला
दर्द भरल शायरी - 16 : ( 1 ) 代 。 Air , . 1 : : : - ShareChat
317 लोग देखलें
1 साल पहिले
दुसरे ऍप्स पर शेयर करीं
Facebook
WhatsApp
लिंक के कॉपी करीं
डिलीट करीं
Embed
हम ई पोस्ट क विरोध कर रहल बानी काँहे की इ पोस्ट। ..
Embed Post