#🖊 एक रचना रोज ✍ #📖 कविता #📓 हिंदी साहित्य #✍️अल्फ़ाज़✍️ #🖋 शेयरचैट Quotes
🖊 एक रचना रोज  ✍ - जख्म कहाँ कहाँ से मिले है । छोड इन बातो को . . जिन्दगी तू तो बता और कितना बाकी है . . गुलजार एक अहसास - ShareChat
184.8k ने देखा
1 महीने पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post