दुनियाँ में इतनी रस्में क्यों हैं; प्यार अगर ज़िंदगी है तो इसमें कसमें क्यों हैं; हमें बताता क्यों नहीं ये राज़ कोई; दिल अगर अपना है तो किसी और के बस में क्यों है।
613 views
7 months ago
Share on other apps
Facebook
WhatsApp
Copy Link
Delete
Embed
I want to report this post because this post is...
Embed Post