@fitness99
@fitness99

फिटनेस मन्त्र

Health and Fitness Tips (सेहत का रखें ख्याल कुछ इस तरह)

कैलोरी बर्न करने के लिए घर में करें ये 3 योग... प्लैंक पोज़ :- इस पोज़ के द्वारा आप ज्यादा कैलोरी बर्न कर सकते हो क्यूंकि इस पोज़ को करने के लिए आपके शरीर की सारी मसल्स में खिचाव होता है। इस पोज़ में आप ज्यादा समय तक रुक सकते है। इसे आप 30 सेकंड से लेकर 5 मिनट तक कर सकते है। इस पोस का अभ्यास करने से आपके मेटाबोलिज्म में वृद्धि होती है। जिससे कैलोरी बर्न होती है। चेयर पोज़ :- यह पोज़ सबसे सरल और सुरक्षित है। इससे शरीर की सारी मसल्स सक्रीय होती है। वैसे तो इस पोज़ से पुरे शरीर का फैट कम होता है, लेकिन यह खासकर हिप्स, पेट और जांघो पर काम करता है। व्हील पोज़ :- व्हील पोज़ को चक्रासन भी कहते है। इससे खासकर पेट की कैलोरी बर्न होती है। इसे करने के लिए आप पीठ के बल लेट जाये। अब दोनों हाथों को सर के पास लेकर आये। दोनों पैरों को भी पास में लाये। फिर अपनी शरीर को ऊपर की ओर ले जाये। कुछ देर तक इसी पोजीशन में बने रहे। रिलैक्स होने के बाद दोबारा से इसे करे।
#

योग

योग - ShareChat
658 ने देखा
2 साल पहले
गैस और कब्ज का हाथों-हाथ सफाया करता है यह योगासन... बढ़ती फास्ट फूड की लत, मिसिंग मील, दूषित खानपान और तनाव भरे जीवन के चलते लोगों में कब्ज, गैस, खट्टी डकार और एसिडिटी की समस्या आम हो गई है। मौजूदा समय में देशभर में करीब 95 प्रतिशत लोग गैस और कब्ज जैसी पेट की समस्या से परेशान है। यह एक ऐसी समस्या है जिसके लिए सीधे तौर पर हम खुद जिम्मेदार हैं। क्योंकि यह लाइफस्टाइल से जुड़ी हुई बीमारी है। पहले के समय में लोग घर के खाने, फल और हरी सब्जियों जैसे आहार को वरीयता देते थे। लेकिन आजकल जिस तरह का लोगों का कटा-फटा पहनावा हो गया है उसी तरह का आहार भी हो गया है। जिसके चलते लोग शारीरिक समस्या से जूझते हैं। आज हम भुजंगासन की बात कर रहे हैं। यह आसान पेट की समस्याओं के साथ ही पीठ के दर्द के लिए भी बेस्ट है। इसे करने के लिये सबसे पहले मुंह को नीचे की ओर करके पेट के बल लेट जाएं और फिर शरीर को बिल्कुल ढीला छोड़ दें। इसके बाद हथेलियों को कंधों और कुहनियों के बीच जमीन के ऊपर रख लें और नाभि से आगे तक के भाग को धीरे-धीरे सांप के फन की तरह ऊपर उठाएं। अब पैर की उंगलियों को पीछे की तरफ खींचकर रखें, ताकि उंगलियां जमीन को छूने लगें। इस पोजीशन में कुछ देर के लिये रुकें और इसे कम से कम चार बार करें। भुजंगासन के अलावा आप मयूरासन, वज्रासन, हलासन, शलाभासन, अनुलोम विलोम प्राणायाम तथा मंडूकासन आदि का भी नियमित अभ्यास कर सकते हैं। ये सभी आसन भी गैस और एसिडिटी की समस्या को दूर करते हैं और शरीर को स्वस्थ्य और शक्ति शाली बनाते हैं।
#

सेहत टिप्स योग

सेहत टिप्स योग - ShareChat
724 ने देखा
2 साल पहले
महिलाओं को जरूर करनी चाहिए ये 4 कीगल एक्‍सरसाइज.. शरीर को स्‍वस्‍थ रखने के लिए प्रतिदिन व्‍यायाम करना बहुत जरूरी होता है। इससे हमारी मांसपेशियां और हड्डियां दोनों मजबूत रहती हैं। मस्तिष्‍क भी स्‍वस्‍थ रहता है। आज हम 4 ऐसी कीगल एक्‍सरसाइज के बारे में बताने जा रहे हैं जो महिलाओं को कई तरह से फायदा पहुंचाएगी। ये एक्‍सरसाइज काफी प्रचलित हो रहा है। आपको बता दें कि कीगल का मतलब उन मांसपेशियों से है जो गर्भाशय, मूत्राशय और छोटी आंत को सहारा देती है। इस व्‍यायाम को करने का एक सबसे बड़ा फायदा यह है कि ये यौन संबंधी परेशानियों को दूर करती है। कीगल एक्‍सरसाइज को करना बहुत आसान है, इसे आप घर में बहुत ही असानी से कर सकती हैं। 1. क्‍लासिक कीगल क्‍लासिक या बेसिक कीगल एक्‍सरसाइज करना काफी आसान है। इसको करने के लिये सबसे पहले आप लेट जाइये और पेट को बिना सिकोड़े अपनी पेल्‍विक मसल्‍स को ढीला छोड़ कर फिर उसे 5-7 सेकेंड तक टाइट कर के रखें। फिर छोड़े। इसे दिन में कुछ मिनटों तक करें। इससे रिजल्‍ट जल्‍द ही मिलेगा। 2. पेल्‍विक टिल्‍ट्स खड़ी या लेट कर अपनी पेल्‍विक को आगे और पीछे की ओर मोड़ें। यदि आप लेटी हुई हैं तो पीठ के बल हाथों को फैलाये और दोनों घुटनों को मोड़ते हुए सटाकर रखिये। उसके बाद अपने एब्‍स को सिकोड़ते हुए अपनी सांस को छोडें। इसे धीरे धीरे हफ्ते में 3-5 बार करें। 3. पुल-इन किगल पुल-इन किगल करने के लिए, पेल्विक क्षेत्र मांसपेशियों को वैक्यूम की तरह समझें। कुल्हे की मांसपेशियों में तनाव उत्पन्न करें तथा पैरों को आगे पीछे करें। इस अवस्था में 5 सेकंड रहें तथा फिर छोड़ दें। ऐसा 10 बार करें। इसे पूरा करने में लगभग 50 सेकंड तक का समय लगेगा। 4. ब्रिज सबसे पहले पीठ के बल लेट जाएं और घुटनों को फोल्‍ड करें। अपने कंधो को साइड में सीधे नीचे रखें, अपनी कमर और कूल्‍हों को उठाएं, अपनी पेल्‍विक मांसपेशियों को सिकोड़ें। एक ब्रिज जैसी पोजिशन बना लें। फिर 3-5 बार कमर को उठाएं और पेल्‍विक को ढीला छोड़ कर दोबारा शुरूआत वाली पोजिशन में आ जाएं। इसे 4 से 5 बार दोहराएं।
#

योग

योग - ShareChat
1.1k ने देखा
2 साल पहले
डांस से इतनी फिट रहती हैं धक-धक गर्ल माधुरी दीक्षित! लाखों दिलों की धड़कन धक-धक गर्ल माधुरी दीक्षित के दीवाने आज भी बहुत हैं। अपने बेहतरीन अभिनय और डांस से लोगों को आकर्षिक करने वाली माधुरी ने एक से बढ़कर एक ब्‍लॉकबास्‍टर फिल्‍में दी। उनकी कई फिल्‍में आज भी पसंद की जाती हैं। माधुरी ने 1984 में आई फ़िल्म 'अबोध' से अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत की थी। माधुरी को डांस का शौक बचपन से था और उन्होंने 3 साल की उम्र से कथक सीखना शुरू कर दिया था। वह एक प्रशिक्षित डांसर हैं। हालांकि फिल्‍म में आने से पहले माधुरी डॉक्टर बनना चाहती थीं और फिल्मों में आने से पहले माइक्रोबायोलॉजी की पढ़ाई कर रही थीं। लेकिन जैसे-जैसे फिल्‍मों में शोहरत मिलती गई, वैसे-वैसे डॉक्‍टर बनने की चाहते से वह दूर होती गईं। उम्र और फैमिली में व्‍यस्‍त होने के कारण भले ही अब फिल्‍मों में माधुरी न दिखती हों लेकिन डांसिंग के क्षेत्र में वह आज भी काफी एक्टिव हैं। माधुरी डांस क्‍लास देती हैं। एक इंटव्‍यू में माधुरी ये बात स्‍वीकार कर चुकी हैं कि, 50 की उम्र में वह डांस के बदौलत ही इतनी फिट रहती हैं। डांस उनकी डेली रूटीन का हिस्‍सा है। माधुरी का मानना है कि, डांस एक तरह की एक्‍सरसाइज है, योग है जिसे हर किसी को करना चाहिए। इससे बॉडी फिट रहती है। शादी कर चौंकाया :- अपने करियर के शिखर पर माधुरी ने उस वक़्त सबको चौंका दिया जब उन्होंने शादी करके इंडस्ट्री को छोड़ने का फैसला किया। 1999 में डॉक्टर श्रीराम नेने से शादी की और कॉलराडो में बस गईं लेकिन अब वो वापस आई हैं। इन दिनों वह अपने एक चैनल की लान्चिंग में व्यस्त हैं।
#

गर्ल्स फिटनेस

गर्ल्स फिटनेस - ShareChat
510 ने देखा
2 साल पहले
खर्राटे आना बंद हो जाएंगे, अगर करेंगे ये 2 योग... (१) सिंहासन सिंहासन का अभ्यास करते वक्त हमारे शरीर का आकार सिंह के समान हो जाता है, इसलिए इसे सिंहासन नाम दिया गया है। इसे करने के लिए सबसे पहले वज्रासन की मुद्रा में बैठ जाएं। अपने दोनों हाथों को जमीन पर रखे और हाथों की अंगुलियां पीछे की ओर करके पैरों के बीच सीधा रखें। लम्बी गहरी सांस ले और जीभ को बाहर की ओर निकालिए। दोनों आँखों को खोलकर भूमध्य की और देखिये। मुख को यथासंभव खोल दें। उसके बाद श्वास को बाहर निकालते हुए सिंह की तरह दहाड़ें। इस क्रिया को दहाड़ के साथ 10 से 15 बार अभ्यास करें। यह आसन खर्राटे की समस्‍या से छुटकारा दिलाने में आपकी मदद करेगा। (२) भ्रामरी प्राणायाम भ्रामरी प्राणायाम को करते वक्त भंवरे जैसी गुंजन होती है, इसीलिए इसे भ्रामरी प्राणायाम कहा जाता हैं। इसे करने से मन शांत होता है वहीं इसके नियमित अभ्यास से और भी बहुत से लाभ प्राप्त किए जा सकते हैं। इसे करने के लिए सबसे पहले सुखासन की मुद्रा में बैठ जाये और अपने दोनों हाथो के अंगूठे से कानो को बंद करें। तर्जनी को सर पर रखे बाकी बची हुई उंगलियों को आंखों पर रखे फिर श्वास को धीमी गति से गहरा खींचकर अंदर कुछ देर रोककर रखें और फिर उसे धीरे-धीरे आवाज करते हुए नाक के दोनों छिद्रों से निकालें। श्वास छोड़ते वक्त भंवरी जैसी आवाज निकालने की कोशिश करे। यह भी खर्राटे को दूर करता है।
#

योग

योग - ShareChat
880 ने देखा
2 साल पहले
ऑफिस की कुर्सी पर बैठे-बैठे करें ये योग और रहें हेल्‍दी...... ऑफिस योग से रहें फिट :- ऐसे में आप योग कर सकते हैं। जी हां बहुत सी ऐसी योग क्रियाएं जिन्‍हें आप अपनी ऑफिस दिनचर्या में शामिल करके खुद को पहले से ज्‍यादा फिट रख सकते हैं। आप ऑफिस में कुर्सी पर बैठे-बैठे भी इन योग क्रियाओं को करके खुद को पूरी तरह फिट रख सकते हैं। इन योग क्रियाओं को करने से आप खुद को पहले से ज्‍यादा सहज महसूस करेंगे ही साथ ही इन्‍हें करने से आपकी मानसिक थकान भी दूर होगी। तो देर किस बात की आइए इस विडियो के माध्‍यम से अस्तित्‍व योग की फाउंडर ओर फैसिलिटेटर कुमुद अदलखा से विस्‍तार में जानें। ट्विस्‍टिंग एक्‍सरसाइज :- इसे करने के लिए थोड़ा सा घूमकर अपने सीधे हाथ को उल्‍टे पैर पर रखें और कमर में थोड़ा सा ट्विस्‍ट महसूस कीजिए। सांस भरते रहिए और वापिस आ जाइए। ऐसा ही दूसरी तरफ से भी करें। फिर वापिस आकर रिलैक्‍स करें। उंगुलियों और कलाई के लिए योग :- सबसे पहले अपनी उंगुलियों के लिए वार्म-अप एक्‍सरसाइज करें। फिर आप अपनी कलाइयों को क्‍लॉक वाइज और एंटी-क्‍लॉक वाइज घुमाइए। कंधों के लिए योग :- इसे करने के लिए अपने हाथों को पैरों पर रखकर कंधों को क्‍लॉक वाइज और एंटी क्‍लॉक वाइज घुमाइए। टांगों की एक्‍सरसाइज :- उल्‍टी टांग को सीधी टांग के ऊपर रखें और आगे की तरफ झुक जाएं फिर महसूस करें कि कहां-कहां स्‍ट्रेच आ रहा है। फिर वापस उसी अवस्‍था में आ जाएं। फिर दूसरी तरफ से भी इस आसन को करें। अब अपनी उंगलियों को आपस में फंसाकर ऊपर ले जाइए और खींचकर रखिए। सांस भरते रहिए और वापस आ जाइए। फिर अपना उल्‍टा हाथ ऊपर ले जाइए और दूसरी साइड में झुक जाइए। ऐसा ही दूसरी साइड से भी करें। उल्टा पैर आगे ले जाइए फिर हाथ से पैरों की उंगालियों को पकड़ने की कोशिश करें। अगर नहीं पकड़ पा रहे तो पैर को पकड़ लें। फिर वापस आ जाइए। दूसरी तरफ से भी ऐसे ही करें।
#

गर्ल्स फिटनेस

गर्ल्स फिटनेस - ShareChat
521 ने देखा
2 साल पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
अनफ़ॉलो
लिंक कॉपी करें
शिकायत करें
ब्लॉक करें
रिपोर्ट करने की वजह: