@gaganarora757
@gaganarora757

Gagan Arora

ਆਕੜ ਤਾ ਸਬ ਵਿਚ ਹੁੰਦੀ ਹੈ ਪਰ ਝੁਕਦਾ ਸਿਰਫ ਓਹੀ ਹੈ ਜਿਸਨੂੰ ਕਿਸੇ ਦੀ ਫਿਕਰ ਹੁੰਦੀ ਹੈ......

#आलोक_दीक्षित आज से 4 साल पहले सुमंत भट्टाचार्य जी ने लक्ष्मी पर एक पोस्ट लिखी थी जिसमें ये वाली फोटो लगाई थी और उसके पति आलोक दीक्षित की महानता का वर्णन किया था , तब आलोक दीक्षित मेरी फेसबुक फ्रेंडलिस्ट में हुआ करते थे , मैंने दीक्षित जी को मेंशन किया तो उन्होंने मुझे इनबाक्स में मैसेज किया कि पाण्डेय जी मुझे संघियों की वाल पर मेंशन मत किया कीजिए... उसके अगले दिन ही प्रेस क्लब में मेरी मुलाकात सुमंत जी से हुई उनके साथ कोई कोई श्रीवास्तव जी थे काफी अनुभवी इंसान थे , बात ही बात में उनसे सुमंत जी के एक दिन पहले वाले पोस्ट की चर्चा होने लगी तो उन्होंने कहा कि आलोक को मैं व्यक्तिगत रूप से जानता हूं बहुत बड़ा कमीना वामपंथी है वो लक्ष्मी से शादी नहीं करेगा बस उसका यूज कर रहा है कुछ सालों बाद छोड़ देगा , चूंकि लक्ष्मी तब तक फेमस हो चुकी थी और वह उनके स्टारडम का लाभ ले रहा ... मुझे उस समय श्रीवास्तव जी बात बहुत बुरी लगी थी , एक "सज्जन" व्यक्ति के बारे में किसी से ऐसी बात सुनना शायद ही किसी को अच्छा लगे , और मैने आलोक दीक्षित का इंटरव्यू भी पढ़ा था जिसमें उसने कहा था कि "हम मरते दम तक एक दूसरे के साथ रहेंगे" आलोक का जन्म 1988 में कानपुर में हुआ था , आलोक ने 2007 में "Indian Air Force" ज्वाइन किया और 2009 में रिजाइन कर दिया। उसके बाद उसने "Indian Institute of Journalism & New Media , Bangalore" में एडमिशन ले लिया । कोर्स पूरा करने के बाद मुम्बई में ही TV9 न्यूज चैनल में रिपोर्टर का काम काम किया कुछ महीनों बाद वहां से जाॅब छोड़ कर जागरण प्रकाशन लिमिटेड के INEXT Live पोर्टल में काम किया अन्तत: 2013 के अन्त में उसने एक एसिड सर्वाइवर के लिए काम करने वाले एक एनजीओ को ज्वाइन किया जहां उसकी मुलाकात लक्ष्मी से हुई और कुछ दिनों बाद वह लक्ष्मी के साथ लिव इन रिलेशनशिप में रहने लगा , मार्च 2015 में बेटी पीहू का जन्म हुआ आलोक एक समाचार पत्र को दिए गए अपने एक इंटरव्यू में कहता है कि “जैसे एक सामान्य इंसान किसी से प्यार कर बैठता है उसी तरह मैं लक्ष्मी को प्यार कर बैठा" आगे आलोक बोलता है कि "'मैने मरते दम तक लक्ष्मी के साथ रहने का निर्णय लिया है , लेकिन शादी न करने से हमें सोसायटी का सामना करना पड़ रहा है ,हम नहीं चाहते कि हमारी शादी में लोग आएं और लक्ष्मी के लुक पर कमेंट करें , दुल्हन का लुक ही लोगों के लिए मायने रखता है , इसीलिए हमने कोई भी समारोह न करने का निश्चय किया" बाद में दोनों परिवारों ने उनके रिश्तों को सहमति दे दी और कोई विवाह समारोह न करने के लिए राजी हो गए ... बाद में आलोक ने असीम त्रिवेदी के साथ मिलकर "Save your voice" नामक संस्था की स्थापना की , संस्था के सारे कार्य और चद्देश्य वहीं हैं जो टुकड़े टुकड़े गैंग के हैं मसलन "अभिव्यक्ति की असीमित स्वतंत्रता" "सेव कश्मीर" "इंटरनेट सेंसरशिप" "अफजल हम शर्मिंदा हैं" "फक हिन्दुत्व" ईटीसी असीम त्रिवेदी वही शख्श है जो फेसबुक ट्वीटर पर "Cartoons Against Corruption" नामक पेज और ट्वीटर हैंडल चलाता है और "आम आदमी पार्टी" का प्रचार-प्रसार करता है लक्ष्मी की बिटिया पीहू के जन्म के कुछ महीनों बाद आलोक ने उससे ब्रेकअप कर लिया और पीहू के पालन पोषण के लिए एक भी रुपए देने से साफ साफ मना कर दिया ... उसने स्वीकार किया कि "he has not been able to provide any financial assistance to her or the child" .... ऊपर आप आलोक का प्रोफाइल पढ़ कर समझ ही गए होगें कि इतना पढ़ा लिखा इंसान निठल्ला क्यों है और अपनी पत्नी और बेटी को एक भी रूपए देने से साफ साफ क्यों मना कर रहा है , असल में वामपंथियों का यही असली चरित्र है वो महाधूर्त होते हैं उन्हें पारिवारिक मूल्यों से कोई लेना देना नहीं होता उन्हें बस ऐय्यासी वाला जीवन जीना होता है ... 2015 में आलोक से अलग होने के बाद आलोक ने किसी बहाने से उसे एनजीओ ने निकलवा दिया , लक्ष्मी को मिल रही 10000 की मासिक इन्कम भी बंद हो गई , लक्ष्मी तीन साल तक बुरी तरह से संघर्ष करती रही उसको खाने तथा मकान किराए के लिए भी संघर्ष करना पड़ा , उसके चेहरे की वजह से कोई उसे जाॅब भी देने को तैयार नहीं था यहां तक कि उसने काॅल सेंटर में भी अप्लाई किया जहां लोगों को उसका चेहरा भी नहीं दिखता पर उसे काॅलसेंटर में भी जाॅब नहीं मिल सकी , इसी बीच लक्ष्मी के मकान मालिक ने भी यह कहकर कि लक्ष्मी को देखकर उसके बच्चे डर जाते हैं उसे घर से निकाल दिया... लक्ष्मी के बारे में कहीं से अक्षय कुमार को पता चला और अक्षय ने लक्ष्मी को पांच लाख रुपए की सहायता भी की , सोशल मीडिया के माध्यम से कुछ पैसे लोगों ने सहायतार्थ दी जिससे लक्ष्मी ने एसिड पीड़ितों के साथ मिलकर लखनऊ और कानपुर के काॅफी शाॅप ओपन किया.... ये पोस्ट मैने किसी भी रुप में लक्ष्मी के विरोध में नहीं लिखी है , लक्ष्मी के संघर्ष को मेरा दिल से अभिवादन है , ईश्वर करें लक्ष्मी और उनकी बेटी आजीवन खुश रहें , हालांकि तीन साल पहले भी मैंने जब लक्ष्मी की दयनीय आर्थिक स्थिति के बारे में पढ़ा था तो कुछ मदद करने का सोचा था पर कोई माध्यम नहीं मिल पाया जिससे जरिए मदद की जा सके , लेकिन आगे कभी भी अवसर मिला तो जरूर मदद करूंगा ... पोस्ट का आशय वामपंथी धूर्तता से अवगत कराना है । वही वामपंथी जो देश, गरीबी, समाज, न्याय और संवैधानिक मूल्यों की बात करता है अपने व्यक्तिगत जीवन में इन मूल्यों का कितना अनुसरण करता है आप सहजता से समझ सकते हैं , जो अपनी भूखी पत्नी और बच्ची को निसहाय छोड़ कर भाग सकता है उस व्यक्ति के दिल में आप गरीबों और असहायों के प्रति संवेदना की उम्मीद रखते हैं तो आपसे बड़ा मूर्ख कोई नहीं ... यही है वामपंथ का असली चेहरा ... श्रीवास्तव जी ने सही कहा था कि आलोक दीक्षित धूर्त वामपंथी है , देखना इसे यूज करके छोड़ देगा #🙌 दीपिका पादुकोण #📰 समाचार एवं न्यूज़ पेपर क्लिप #💔 दर्द-ए-दिल
#

🙌 दीपिका पादुकोण

🙌 दीपिका पादुकोण - ShareChat
130 ने देखा
13 दिन पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
अनफ़ॉलो
लिंक कॉपी करें
शिकायत करें
ब्लॉक करें
रिपोर्ट करने की वजह: