@rampraveshgupta
@rampraveshgupta

Rampravesh Gupta

मुझे ShareChat पर फॉलो करें

#धारा #370#कौन हटा सकता है जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट के (2015 के आदेश )अनुसार — धारा 370 भारत के संविधान में स्थाई है। इसे न तो बदला जा सकता है और न ही हटाया जा सकता है। जम्मू-कश्मीर भारत के अन्य राज्यों की तरह नहीं है। जम्मू-कश्मीर को सीमित संप्रभुता (limited sovereignty) मिली हुई है। इसी वजह से इसे विशेष राज्य का दर्जा मिला हुआ है। इसके अलावा सिर्फ आर्टिकल 370(1) ही जम्मू-कश्मीर राज्य पर लागू होता है, जिसमें राष्ट्रपति को संविधान के किसी भी प्रावधान को जम्मू-कश्मीर राज्य में लागू करने का अधिकार है, लेकिन इसके लिए भी जम्मू-कश्मीर राज्य से सलाह लेना जरूरी है। जम्मू-कश्मीर को प्राप्त विशेषाधिकरों के कारण कहा जाये कि जम्मू-कश्मीर एक राज्य न होकर एक देश है तो यह भी गलत न होगा। जम्मू-कश्मीर राज्य से धारा 370 को हटा पाना असंभव प्रतीत होता है। क्यूंकि बिना जम्मू-कश्मीर राज्य विधानसभा की सहमति के इसको हटा पाना असंभव है और जम्मू-कश्मीर राज्य विधानसभा ऐसा करने को कभी सहमत नहीं होगी।
#

पुलवामा में आतंकी हमला

पुलवामा में आतंकी हमला - अपि भी जानिये धारा • जम्मू - कश्मीर के नागरिकों के पास दोहरी नागरिकता होती है । • जम्मू - कश्मीर का राष्ट्रध्वज अलग होता है । • जम्मू - कश्मीर की विधानसभा का कार्यकाल 6 वर्षों का होता है जबकि भारत के अन्य राज्यों की विधानसभाओं का कार्यकाल 5 वर्षों का ही होता है जम्मू - कश्मीर के अन्दर भारत के राष्ट्रध्वज या राष्ट्रीय प्रतीकों का अपमान अपराध नहीं होता • भारत के उच्चतम न्यायलय के आदेश जम्मू - कश्मीर के अन्दर मान्य नहीं होते हैं । • भारत की संसद जम्मू - कश्मीर के संबंध में अत्यंत सीमित क्षेत्र में कानून बना सकती है • जम्मू - कश्मीर की कोई महिला यदि भारत के किसी अन्य राज्य के व्यक्ति से विवाह करले तो उस महिला की नागरिकता समाप्त हो जायेगी , इसके विपरीत यदि यह पाकिस्तान के किसी व्यक्ति से विवाह करले तो उसे जम्मू - कश्मीर की नागरिकता मिल जायेगी धारा 370 की वजह से कश्मीर में आरटीआई लागू नहीं है , आरटीई लागू नहीं है और सीएजी लागू नहीं होता भारत का कोई भी कानून लागू नहीं होती • कश्मीर में महिलाओं पर शरीया कानून लागू है । * कश्मीर में पंचायत के अधिकार नहीं हैं । • कश्मीर में चपरासी को 2500 ही मिलते हैं । • कश्मीर में अल्पसंख्यक ( हिन्दु - सिख ) को 16 % आरक्षण नहीं मिलता धारा 370 की वजह से कश्मीर में बाहर के लोग जमीन नहीं खरीद सकते हैं । • धारा 370 की वजह से पाकिस्तानियों को भी भारतीय नागरिकता मिल जाती है इसके लिए पाकिस्तानियों को केवल किसी कमीरी लड़की से शादी करनी होती है । - ShareChat
107 views
3 hours ago
GOOD EVENING EVEREYON कौन सा पति खरीदूँ ? शहर के बाज़ार में एक दूकान खुली जिसपर लिखा था: “यहाँ आप पतियों को ख़रीद सकती है” औरतों का एक हुजूम वहां जमा होने लगा, सभी दूकान में दाख़िल होने के लिए बेचैन थी, उनकी लंबी क़तारें लग गयी... दूकान के मैंन दरवाज़े पर लिखा था “पति ख़रीदने के लिए निचे की शर्ते लागू” इस दूकान में कोई भी औरत सिर्फ एक मर्तबा दाख़िल होसकती है.. दूकान की 6 मंज़िले है,और हर मंजिल पर पतियों के प्रकार के बारे में लिखा है ख़रीदार औरत किसी भी मंजिल से अपना पति चुन सकती है l लेकिन एक बार ऊपर जाने के बाद दोबारा नीचे नहीं आ सकती,सिवाए बाहर जाने के.. एक खुबसूरत लड़की को दूकान में दाख़िल होने का मौक़ा मिला.. पहली मंजिल के दरवाज़े पे लिखा था “इस मंजिल के पति अच्छे रोज़गार वाले है और नेक है” लड़की आगे बढ़ी, दुसरे मंजिल पे लिखा था “इस मंजिल के पति अच्छे रोज़गार वाले है,नेक है और बच्चों को पसंद करते है” लड़की फिर आगे बढ़ी l तीसरी मंजिल के दरवाजे पे लिखा था “इस मंजिल के पति अच्छे रोज़गार वाले है,नेक है और खुबसूरत भी है” ये पढ़कर लड़की कुछ देर केलिए रुक गयी मगर ये सोचकर के चलो ऊपर की मंजिल पर जाकर देखते है आगे बढ़ी.. चौथी मंजिल के दरवाज़े पे लिखा था “इस मंजिल के पति अच्छे रोज़गार वाले है,नेक है, खुबसूरत भी है और घर के कामों में मदद भी करते है” ये पढ़कर लड़की को चक्कर आने लगे और सोचने लगी “क्या ऐसे भी मर्द इस दुनिया में होते है? यही से एक पती ख़रीद लेती हूँ” लेकिन दिल ना माना तो एक और मंजिल ऊपर चली गयी पांचवी मंजिल पर लिखा था “इस मंजिल के पति अच्छे रोज़गार वाले है,नेक है और खुबसूरत है, घर के कामों में मदद करते है और अपनी बीवियों से प्यार करते है” अब इसकी अक़ल जवाब देने लगी वो सोचने लगी इससे बेहतर मर्द और क्या भला होसकता है? मगर फिर भी उसका दिल नहीं माना और आखरी मंजिल के तरफ क़दम बढाने लगी... आखरी मंजिल के दरवाज़े पे लिखा था “आप इस मंजिल पे आनेवाली 3338वीं औरत है,इस मंजिल पर कोई भी पति नहीं है,ये मंजिल सिर्फ इसलिए बनाई गयी ताकि इस बात का सुबूत दिया जा सके के इंसान को पूर्णत संतुष्ट करना ना मुमकिन है, हमारे स्टोर पर आने का शुक्रिया 🙏 सीढियाँ बाहर की तरफ जाती है ....
#

महिलाओं की उलझनें और सुझाव

महिलाओं की उलझनें और सुझाव - are numai - ShareChat
149 views
2 days ago
Share on other apps
Facebook
WhatsApp
Copy Link
Delete
Embed
I want to report this post because this post is...
Embed Post
Share on other apps
Facebook
WhatsApp
Unfollow
Copy Link
Report
Block
I want to report because