@thekhabri007
@thekhabri007

खबरीलाल 🤓Entertainment

देश 🇮🇳 दुनिया 🌍की👉ट्रेडिंग न्यूज़ के लिए फॉलो

#🚂 रेल हादसा😔 कटक. मुंबई-भुवनेश्वर लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस ने गुरुवार सुबह करीब 7 बजेएक मालगाड़ी को पीछे से टक्कर मार दी। हादसे के बाद ट्रेन के 8 डिब्बे पटरी से उतर गए।यह हादसा कटक के पास सलगांव औरनेरगुंडी स्टेशन के बीचहुआ। इसमें 25 से ज्यादाजख्मी हुए,6 लोगों की हालत गंभीर है। रेलवेअधिकारियों के मुताबिक,घनाकोहराहादसे की वजह हो सकती है। पूर्व तटीय रेलवे के प्रवक्ता जेपी मिश्रा ने कहा,‘‘घायलों को कटक के एससीबी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस मार्ग पर चलने वाली सभी ट्रेने प्रभावित हुईं। 6 से ज्यादा ट्रेनों का मार्ग बदलकरनराज स्टेशन की ओर से रवाना कियागया। दुर्घटनाग्रस्तलोकमान्य तिलक भुवनेश्वर जा रही थी।’’ #🌐 राष्ट्रीय-अंतराष्ट्रीय खबरें #📰 समाचार एवं न्यूज़ पेपर क्लिप
#

🚂 रेल हादसा😔

🚂 रेल हादसा😔 - ओडिशा / कटक के पास मुंबई - भुवनेश्वर एक्सप्रेस ने मालगाड़ी को पीछे से टक्कर मारी ; 8 डिब्बे पटरी से उतरे , 25 से ज्यादा जख्मी _ _ मुंबई - भुवनेश्वर लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस ने एक मालगाड़ी को पीछे से टक्कर मारी । - ShareChat
200 ने देखा
3 दिन पहले
#⚖ निर्भया : बलात्कारियों की फांसी टली नई दिल्ली.निर्भया केस में फांसी की सजा पाए चार दोषियों में शामिल मुकेश कुमार ने 22 जनवरी का डेथ वॉरंट रद्द करने की मांग करते हुए पटियाला हाउस कोर्ट में याचिका दायर की है। निचली अदालत इस पर गुरुवार को सुनवाई करेगी। इससे पहले मुकेश ने बुधवार को भी दिल्ली हाईकोर्ट के सामने यह मांग रखी थी। लेकिन कोर्ट ने उसकी अर्जी स्वीकार नहीं करते हुए ट्रायल कोर्ट जाने को कहा था। इसके बाद पटियाला हाउस कोर्ट मुकेश की याचिका पर सुनवाई के लिए तैयार हो गया। अदालत ने सुनवाई से पहले नोटिस जारी कर दिल्ली सरकार और निर्भया के माता-पिता से जवाब मांगा। इसबीच, निर्भया की मां ने राष्ट्रपति से दया याचिका खारिज करने की मांग की है। निर्भया केस की मौजूदा स्थिति पटियाला हाउस कोर्ट ने 7 जनवरी को निर्भया के चारों दुष्कर्मियों अक्षय, पवन, मुकेश और विनय के खिलाफ डेथ वॉरंट जारी कर दिया था। इस वॉरंट में कहा गया था कि इन दोषियों को 22 जनवरी को सुबह 7 बजे तिहाड़ जेल में फांसी पर चढ़ाया जाए। इसके बाद दो दोषियों मुकेश और विनय ने सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन दायर की। सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को दोनों की याचिका खारिज कर दी। एक दोषी मुकेश ने राष्ट्रपति को दया याचिका भेजी, दिल्ली हाईकोर्ट से डेथ वॉरंट रद्द करने की मांग की। हाईकोर्ट ने उसकी याचिका खारिज करते हुए निचली अदालत में अर्जी दायर करने को कहा। दिल्ली सरकार ने दया याचिका खारिज करने की सिफारिश कर इसे उपराज्यपाल अनिल बैजल के पास भेजा। इसके बाद याचिका केंद्रीय गृह मंत्रालय के पास पहुंचाई गई। दोषी की याचिका पर सुनवाई से निर्भया की मां निराश निर्भया की मां आशा देवी ने हाईकोर्ट और ट्रायल कोर्ट में दोषी की याचिका पर सुनवाई को लेकर असंतोष जाहिर किया। उन्होंने राष्ट्रपति से दया याचिका खारिज करने की मांग की है ताकि सभी दोषियों को 22 जनवरी को फांसी पर लटकाया जा सके। आशा देवी ने कहा कि कोर्ट ने 7 जनवरी को डेथ वॉरंट जारी करते वक्त दया याचिका दायर करने के लिए 14 दिन का समय दिया था। लेकिन दोषियों ने ऐसा न कर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। इसके बाद फांसी में देरी के लिए हाईकोर्ट चले गए। जावड़ेकर बोले- आप सरकार की लापरवाही से फांसी में देरी केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने दिल्ली सरकार पर निर्भया के दोषियों की फांसी के मामले में लेटलतीफी का आरोप लगाया। उन्होेंने कहा कि केजरीवाल सरकार ने पिछले ढाई साल में दया याचिका के लिए दोषियों को नोटिस क्यों नहीं दिया। आप सरकार निर्भया को इंसाफ मिलने में देरी के लिए जिम्मेदार है। नहीं तो दोषी कब के फांसी पर लटक चुके होते। इससे पहले उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा था कि दया याचिका के मामले में हमने तेजी से काम किया और हमारी तरफ से कोई देरी नहीं होगी। दोषी मुकेश ने मंगलवार को मौत की सजा के खिलाफ राष्ट्रपति को दया याचिका भेजी थी। हाईकोर्ट ने कहा था- ट्रायल कोर्ट के आदेश में कोई चूक नहीं मुकेश ने याचिका में कहा है कि उसकी दया याचिका दिल्ली के उपराज्यपाल और राष्ट्रपति के पास लंबित है। इसलिए 22 जनवरी को फांसी देने के लिए जारी डेथ वॉरंट को रद्द कर दिया जाए। हालांकि, हाईकोर्ट ने इस पर सुनवाई के दौरान कहा था कि ट्रायल कोर्ट के 7 जनवरी के आदेश में कोई चूक नहीं है। इस तारीख तक दोषी ने क्यूरेटिव पिटीशन या दया याचिका दायर नहीं की थी। दोषियों को 22 जनवरी को फांसी पर चढ़ाना संभव नहीं दिल्ली सरकार ने हाईकोर्ट से कहा था कि निर्भया के चारों दुष्कर्मियों को 22 जनवरी को फांसी पर नहीं चढ़ाया जा सकता। इसके पीछे दिल्ली सरकार ने जेल नियमों का हवाला देते हुए दलील दी है, 'अगर किसी मामले में एक से ज्यादा दोषी को मौत की सजा सुनाई गई है और अगर उनमें से किसी एक दोषी ने भी दया याचिका दाखिल की है तो उस याचिका पर फैसला होने तक सभी दोषियों की फांसी टालनी पड़ती है।' इस पर हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार और तिहाड़ जेल प्रशासन को फटकार लगाते हुए कहा कि पूरा सिस्टम कैंसर से जूझ रहा है। दोषी इस सिस्टम का गलत फायदा उठा पा रहे हैं। फांसी के मामले में अब आगे क्या? जेल प्रशासन के वकील राहुल मेहरा ने कोर्ट को बताया था कि चारों दोषियों को निश्चित रूप से 22 जनवरी को फांसी नहीं दी जाएगी। राष्ट्रपति की ओर से दया याचिका रद्द होने के 14 दिन बाद ही फांसी दी जा सकती है। हम नियमों से बंधे हैं, क्योंकि याचिका खारिज होने पर दोषियों को 14 दिन का नोटिस देना जरूरी है। मुकेश ने दया याचिका दायर की है। हम बाकी दोषियों की याचिकाओं का भी इंतजार करेंगे। 22 जनवरी को फांसी देने की तारीख एकेडमिक है। अगर 21 तारीख को दोपहर तक दया याचिका पर फैसला नहीं हुआ, तो जेल प्रशासन नए वॉरंट के लिए ट्रायल कोर्ट जाएगा। याचिका के 22 जनवरी से पहले या बाद में खारिज होने की स्थिति में भी सभी दोषियों के लिए वॉरंट के लिए ट्रायल कोर्ट का रुख करेंगे। #🌐 राष्ट्रीय-अंतराष्ट्रीय खबरें #📰 समाचार एवं न्यूज़ पेपर क्लिप
#

⚖ निर्भया : बलात्कारियों की फांसी टली

⚖ निर्भया : बलात्कारियों की फांसी टली - निर्भया केस / दोषी मुकेश के डेथ वॉरंट के खिलाफ ट्रायल कोर्ट में सुनवाई , पीड़ित की मां ने राष्ट्रपति से दया याचिका खारिज करने की मांग की ' निर्भया का गुनहगार मुकेश कुमार । ( फाइल फोटो ) - ShareChat
185 ने देखा
3 दिन पहले
#

😱 आतंकियों ने रची साज़िश

#😱 आतंकियों ने रची साज़िश सीडीएस जनरल बिपिन रावत नेगुरुवार कोरायसीना डायलॉग मेंकश्मीर में पैलेट गन के इस्तेमाल पर बात की। उन्होंने कहा किजम्मू-कश्मीर में सेना पर पथराव की घटनाओं में कमी आई है। यह देखा गया कि कश्मीर के युवा आतंकियों के समर्थन में पत्थरबाजी करते थे। यह खतरनाक था, जिससे जान जाने का भी खतरा था। सुरक्षाबलों ने इसे रोकने के लिए पैलेट गन की मदद ली। यह घातक हथियार नहीं है। इससे पैर में निशाना लगाया जाता है, ताकि उपद्रवियों को रोका जा सके। पैलेट गन का कारतूस कई लोगों के चेहरे पर लगा। वजह यह थी कि लोग पत्थर उठाने झुकते थे, पैर पर निशाना लगाने के बावजूद उनके चेहरे पर कारतूस लगा। आतंकवाद के खिलाफ युद्ध अभी खत्म नहीं हुआ है।हमें इसे तब तक जारी रखना होगा,जब तक इसकी जड़ तक न पहुंच जाएं। रावत ने रायसीना डायलॉग के दूसरे दिन के कार्यक्रम में कहा, “हमें आतंकवाद केखात्मेके लिए ठीक उसी तरह के प्रयास करने होंगे, जैसा अमेरिका ने 9/11 की घटना के बाद किया था।हम सबको इसके खिलाफ एक वैश्विक युद्ध शुरू करना होगा। आतंकवादियों को अलग-थलग करना होगा।जो देश इसे बढ़ावा दे रहेहैं, उन्हें भी सबक सिखाना होगा।” ‘आतंकियों को धन मुहैया करा रहे’ पाकिस्तान का नाम लिए बगैर रावत ने कहा, “आतंकीगतिविधियांलंबे समय से जारी हैंऔर यह किसी खास देश द्वारा चलाई जा रहीहैं। वे आतंकियोंको छद्म युद्ध के लिएइस्तेमाल कर रहे हैं। वे उन्हें हथियार और धन मुहैया करा रहे हैं। इसके कारण हम आतंकवाद पर काबू पाने में कामयाब नहीं हो पा रहे, इसलिए हमें उनके खिलाफ कार्रवाई करनी होगी।” उन्होंने यह भी कहा, “मुझे लगता है कि फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) द्वारा ब्लैकलिस्ट करना एक महत्वपूर्ण कदम हो सकता है और साथ ही उसे कूटनीतिक रूप से अलग-थलग करना भी जरूरी है।” एफएटीएफ ने पाकिस्तान कोआतंकियों पर उचित कार्रवाई न करने के कारण 2018 में ग्रे लिस्ट में डाला था। पिछले साल अक्टूबर में हुई बैठक में उसे ब्लैकलिस्ट से बचने के लिए फरवरी 2020 तक का डेडलाइन दिया गया है। उसे इस दौरान आतंकियों के खिलाफ उचित कार्रवाई करनी होगी।अगर पाकिस्तान को ब्लैकलिस्टेड किया जाएगा, तो उसे विश्व बैंक समेत अन्य देशों से भी वित्तीय मदद हासिल नहीं हो पाएगी। सीडीएस की जिम्मेदारियां स्पष्ट और पूरी तरह परिभाषित है: जनरल रावत रावत के मुताबिक, ‘‘सीडीएस एक ऐसा पद है, जो तीनों सेना प्रमुखों के समकक्ष बराबर तो है, लेकिन उसकी जिम्मेदारियां स्पष्ट और पूरी तरह परिभाषित हैं। अफगानिस्तान में शांति स्थापित करने के लिए एक समझौते की आवश्यकता है और इसके लिए बातचीत की जानी चाहिए। साथ ही, तालिबानको हथियार छोड़कर राजनीति के मुख्यधारा में आना होगा। पाकिस्तान कोआतंकियों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए: ब्रिटेन ब्रिटेन फॉरेन एंड कॉमनवेल्थ ऑफिस के निदेशक गैरेथ बेले ने कहा कि पाकिस्तान में आतंकीसमूह सक्रिय हैं और उन्हें उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने कहा, “यदि पाकिस्तान एफएटीएफ द्वारा ब्लैकलिस्टेड होने से बचना चाहता है तो उसे आतंकवाद के खिलाफ कठोर कार्रवाई करनी होगी। पाकिस्तान के खिलाफ सारे सबूत हैं। पाकिस्तान ने आतंकियों के खिलाफ कुछ कार्रवाई की है और कुछ पर काम चल रहा है। यह तो पूरी तरह स्पष्ट है कि आतंकवादी समूह पाकिस्तान के अंदर से चलाए जा रहे हैं। यह पाकिस्तान सरकार और पूरे दक्षिण एशिया के लिए गंभीर चुनौती है।” क्या है रायसीना डायलॉग? रायसीना डायलॉग पहली बार 2015 में ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन थिंक टैंक ने भारतीय विदेश मंत्रालय के सहयोग से शुरू किया था। हर साल इसमें अलग-अलग देशों के प्रमुख और विदेश मंत्री पहुंचते हैं। इस साल 17 देशों के मंत्री और विदेश नीति के जानकार कार्यक्रम में पहुंचे हैं। इनमें ईरान के विदेश मंत्री जवाद जरीफ, श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे, रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव और अन्य नेता पहुंचे। #📰 समाचार एवं न्यूज़ पेपर क्लिप #🌐 राष्ट्रीय-अंतराष्ट्रीय खबरें
219 ने देखा
3 दिन पहले
#

💖 धोनी ने लिया संन्यास❗❗

#💖 धोनी ने लिया संन्यास❗❗ मुंबई. महेंद्र सिंह धोनी बीसीसीआई की कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट से बाहर कर दिए गए हैं। पिछली बार वे ए ग्रेड में शामिल थे। बीसीसीआई ने कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट गुरुवार को जारी की। इसमें 27 खिलाड़ियों से करार किया गया है। विराट कोहली, रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह को भी टॉप ग्रेड ‘‘ए प्लस’’दी गई है, पिछले साल भी यही खिलाड़ी इस ग्रेड में थे। धोनी के अलावा दिनेश कार्तिक, अंबाती रायुडू और खलील अहमद भी कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट से बाहर हो गए हैं। 2020 कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट में शामिल नए चेहरे बीसीसीआई की कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट में पहली बार मयंक अग्रवाल, श्रेयस अय्यर, नवदीप सैनी, दीपक चाहर, शार्दुल ठाकुर और वॉशिंगटन सुंदर को शामिल किया गया है। मयंक को ग्रेड बी में जगह मिली है। बाकी खिलाड़ियों को ग्रेड सी में शामिल किया गया है। 2 खिलाड़ियों को प्रमोशन मिला रिद्धिमान साहा और केएल राहुल को बोर्ड ने प्रमोट किया है। राहुल पिछले साल ग्रेड बी में थे, इस बार उन्हें ए ग्रेड में शामिल किया गया। साहा ग्रेड सी में शामिल थे, उन्हें इस बार ग्रेड बी में जगह मिली है। A+ ग्रेड में कोहली समेत तीन खिलाड़ी प्लेयर 2020 में ग्रेड 2019 में ग्रेड सालाना कॉन्ट्रैक्ट विराट कोहली A+ A+ 7 करोड़ रोहित शर्मा A+ A+ 7 करोड़ जसप्रीत बुमराह A+ A+ 7 करोड़ A ग्रेड मेंराहुल, धवन समेत 11 खिलाड़ी प्लेयर 2020 में ग्रेड 2019 में ग्रेड सालाना कॉन्ट्रैक्ट रविचंद्रन अश्विन A A 5 करोड़ रविंद्र जडेजा A A 5 करोड़ भुवनेश्वर कुमार A A 5 करोड़ चतेश्वर पुजारा A A 5 करोड़ अजिंक्य रहाणे A A 5 करोड़ केएल राहुल A B 5 करोड़ शिखर धवन A A 5 करोड़ मोहम्मद शमी A A 5 करोड़ इशांत शर्मा A A 5 करोड़ कुलदीप यादव A A 5 करोड़ ऋषभ पंत A A 5 करोड़ B ग्रेड मेंमयंक अग्रवाल नया चेहरा प्लेयर 2020 में ग्रेड 2019 में ग्रेड सालाना कॉन्ट्रैक्ट ऋद्धिमान साहा B C 3 करोड़ उमेश यादव B B 3 करोड़ युजवेंद्र चहल B B 3 करोड़ हार्दिक पंड्या B B 3 करोड़ मयंक अग्रवाल B - 3 करोड़ C ग्रेड में 8 खिलाड़ी, इनमें से 5नए प्लेयर 2020 में ग्रेड 2019 में ग्रेड सालाना कॉन्ट्रैक्ट केदार जाधव C C 1 करोड़ नवदीप सैनी C - 1 करोड़ दीपर चाहर C - 1 करोड़ मनीष पांडे C C 1 करोड़ हनुमा विहारी C C 1 करोड़ शार्दुल ठाकुर C - 1 करोड़ श्रेयस अय्यर C - 1 करोड़ वॉशिंगटन सुंदर C - 1 करोड़ #🌐 राष्ट्रीय-अंतराष्ट्रीय खबरें #📰 समाचार एवं न्यूज़ पेपर क्लिप #🎯 खेल जगत की खबरें
4.5k ने देखा
3 दिन पहले
#💖 धोनी ने लिया संन्यास❗❗ मुंबई. महेंद्र सिंह धोनी बीसीसीआई की कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट से बाहर कर दिए गए हैं। पिछली बार वे ए ग्रेड में शामिल थे। बीसीसीआई ने कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट गुरुवार को जारी की। इसमें 27 खिलाड़ियों से करार किया गया है। विराट कोहली, रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह को भी टॉप ग्रेड ‘‘ए प्लस’’दी गई है, पिछले साल भी यही खिलाड़ी इस ग्रेड में थे। धोनी के अलावा दिनेश कार्तिक, अंबाती रायुडू और खलील अहमद भी कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट से बाहर हो गए हैं। 2020 कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट में शामिल नए चेहरे बीसीसीआई की कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट में पहली बार मयंक अग्रवाल, श्रेयस अय्यर, नवदीप सैनी, दीपक चाहर, शार्दुल ठाकुर और वॉशिंगटन सुंदर को शामिल किया गया है। मयंक को ग्रेड बी में जगह मिली है। बाकी खिलाड़ियों को ग्रेड सी में शामिल किया गया है। 2 खिलाड़ियों को प्रमोशन मिला रिद्धिमान साहा और केएल राहुल को बोर्ड ने प्रमोट किया है। राहुल पिछले साल ग्रेड बी में थे, इस बार उन्हें ए ग्रेड में शामिल किया गया। साहा ग्रेड सी में शामिल थे, उन्हें इस बार ग्रेड बी में जगह मिली है। A+ ग्रेड में कोहली समेत तीन खिलाड़ी प्लेयर 2020 में ग्रेड 2019 में ग्रेड सालाना कॉन्ट्रैक्ट विराट कोहली A+ A+ 7 करोड़ रोहित शर्मा A+ A+ 7 करोड़ जसप्रीत बुमराह A+ A+ 7 करोड़ A ग्रेड मेंराहुल, धवन समेत 11 खिलाड़ी प्लेयर 2020 में ग्रेड 2019 में ग्रेड सालाना कॉन्ट्रैक्ट रविचंद्रन अश्विन A A 5 करोड़ रविंद्र जडेजा A A 5 करोड़ भुवनेश्वर कुमार A A 5 करोड़ चतेश्वर पुजारा A A 5 करोड़ अजिंक्य रहाणे A A 5 करोड़ केएल राहुल A B 5 करोड़ शिखर धवन A A 5 करोड़ मोहम्मद शमी A A 5 करोड़ इशांत शर्मा A A 5 करोड़ कुलदीप यादव A A 5 करोड़ ऋषभ पंत A A 5 करोड़ B ग्रेड मेंमयंक अग्रवाल नया चेहरा प्लेयर 2020 में ग्रेड 2019 में ग्रेड सालाना कॉन्ट्रैक्ट ऋद्धिमान साहा B C 3 करोड़ उमेश यादव B B 3 करोड़ युजवेंद्र चहल B B 3 करोड़ हार्दिक पंड्या B B 3 करोड़ मयंक अग्रवाल B - 3 करोड़ C ग्रेड में 8 खिलाड़ी, इनमें से 5नए प्लेयर 2020 में ग्रेड 2019 में ग्रेड सालाना कॉन्ट्रैक्ट केदार जाधव C C 1 करोड़ नवदीप सैनी C - 1 करोड़ दीपर चाहर C - 1 करोड़ मनीष पांडे C C 1 करोड़ हनुमा विहारी C C 1 करोड़ शार्दुल ठाकुर C - 1 करोड़ श्रेयस अय्यर C - 1 करोड़ वॉशिंगटन सुंदर C - 1 करोड़ #📰 समाचार एवं न्यूज़ पेपर क्लिप #🌐 राष्ट्रीय-अंतराष्ट्रीय खबरें
#

💖 धोनी ने लिया संन्यास❗❗

💖 धोनी ने लिया संन्यास❗❗ - क्रिकेट / 6 महीने से मैदान से दूर धोनी बीसीसीआई की कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट से भी बाहर ; इस बार 27 खिलाड़ियों से करार , 6 नए चेहरे , सिर्फ 3 A + ग्रेड में सिर्फ धोनी बाहर , सालाना कॉन्ट्रैक्ट की नई ग्रेड लिस्ट में बाकी किसी भी खिलाड़ी का डिमोशन नहीं A + ग्रेड में 7 करोड़ , A ग्रेड में 5 करोड़ , B ग्रेड में 3 करोड़ और C ग्रेड में 1 करोड़ रुपए सालाना मिलेंगे • राहुल B से A और साहा C से B ग्रेड में आए , मयंक अग्रवाल और श्रेयस अय्यर को इस बार मौका iNuy धोनी कॉन्ट्रैक्ट से आउट - ShareChat
3.6k ने देखा
3 दिन पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
अनफ़ॉलो
लिंक कॉपी करें
शिकायत करें
ब्लॉक करें
रिपोर्ट करने की वजह: