@yoginsavaniya
@yoginsavaniya

♍r 👉 🅿e®f📧ct ✅

😜ί ķήόώ ί'м"άώέşόмέ", - I Đøn'Ť Ćäŕè Abôűt "Løğ Kýã Kahěnge" 🎂cake🔪murder_ on 8-April ❌ ȚřÛśť 🚫 👉📷Phøťöhøłïç📷 👪I love my family💐

#

🌅 સુપ્રભાત 🙏

🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *********|| जय श्री राधे ||********* 🌺🙏 *महर्षि पाराशर पंचांग* 🙏🌺 🙏🌺🙏 *अथ पंचांगम्* 🙏🌺🙏 *********ll जय श्री राधे ll********* 🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *दिनाँक -: 10/07/2019,बुधवार* नवमी, शुक्ल पक्ष आषाढ """""""""""""""""""""""""""""""""""""(समाप्ति काल) तिथि-------------नवमी26:02:34 तक पक्ष-----------------------------शुक्ल नक्षत्र--------------चित्रा16:21:21 योग----------------शिव10:09:38 करण-------------बालव14:43:12 करण------------कौलव26:02:34 वार---------------------------बुधवार माह (पूर्णिमांत)-------------आषाढ चन्द्र राशि-----------------------तुला सूर्य राशि----------------------मिथुन रितु------------------------------ग्रीष्म सायन----------------------------वर्षा आयन-------------------दक्षिणायण संवत्सर----------------------विकारी संवत्सर (उत्तर)-----------परिधावी विक्रम संवत-----------------2076 विक्रम संवत (कर्तक)-------2075 शाका संवत------------------1941 वृन्दावन सूर्योदय-----------------05:32:12 सूर्यास्त------------------19:16:43 दिन काल---------------13:44:30 रात्री काल--------------10:15:57 चंद्रोदय------------------13:15:51 चंद्रास्त------------------25:07:45 लग्न  मिथुन23°22' , 83°22' सूर्य नक्षत्र--------------------पुनर्वसु चन्द्र नक्षत्र----------------------चित्रा नक्षत्र पाया---------------------रजत *🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩* रा----चित्रा 10:32:23 री----चित्रा 16:21:21 रू----स्वाति 22:12:08 रे----स्वाति28:04:39 *💮🚩💮 ग्रह गोचर 💮🚩💮* ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद ======================= सूर्य=मिथुन 23°42 'पुनर्वसु , 2 को चन्द्र =तुला 00°13 ' चित्रा ' 3 रा बुध=कर्क 10°20 ' पुष्य' 3 हो शुक्र= मिथुन 13 ° 12, आर्द्रा 3 ङ मंगल=कर्क 10 ° 53 'पुष्य' 3 हो गुरु=वृश्चिक 22°04 ' ज्येष्ठा , 2 या शनि=धनु 23°33' पू oषा o ' 4 ढा राहू=मिथुन 23°30 ' पुनर्वसु , 2 को केतु=धनु 23 ° 30' पूo षाo, 4 ढा *🚩💮🚩शुभा$शुभ मुहूर्त🚩💮🚩* राहू काल 12:24 - 14:08अशुभ यम घंटा 07:15 - 08:58अशुभ गुली काल 10:41 - 12:24अशुभ अभिजित 11:57 -12:52अशुभ दूर मुहूर्त 11:57 - 12:52अशुभ 💮चोघडिया, दिन लाभ 05:32 - 07:15शुभ अमृत 07:15 - 08:58शुभ काल 08:58 - 10:41अशुभ शुभ 10:41 - 12:24शुभ रोग 12:24 - 14:08अशुभ उद्वेग 14:08 - 15:51अशुभ चर 15:51 - 17:34शुभ लाभ 17:34 - 19:17शुभ 🚩चोघडिया, रात उद्वेग 19:17 - 20:34अशुभ शुभ 20:34 - 21:51शुभ अमृत 21:51 - 23:08शुभ चर 23:08 - 24:25*शुभ रोग 24:25* - 25:42*अशुभ काल 25:42* - 26:59*अशुभ लाभ 26:59* - 28:16*शुभ उद्वेग 28:16* - 29:33*अशुभ 💮होरा, दिन बुध 05:32 - 06:41 चन्द्र 06:41 - 07:50 शनि 07:50 - 08:58 बृहस्पति 08:58 - 10:07 मंगल 10:07 - 11:16 सूर्य 11:16 - 12:24 शुक्र 12:24 - 13:33 बुध 13:33 - 14:42 चन्द्र 14:42 - 15:51 शनि 15:51 - 16:59 बृहस्पति 16:59 - 18:08 मंगल 18:08 - 19:17 🚩होरा, रात सूर्य 19:17 - 20:08 शुक्र 20:08 - 20:59 बुध 20:59 - 21:51 चन्द्र 21:51 - 22:42 शनि 22:42 - 23:33 बृहस्पति 23:33 - 24:25 मंगल 24:25* - 25:16 सूर्य 25:16* - 26:07 शुक्र 26:07* - 26:59 बुध 26:59* - 27:50 चन्द्र 27:50* - 28:41 शनि 28:41* - 29:33 *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार । शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥ रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार । अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥ अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें । उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें । शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें । लाभ में व्यापार करें । रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें । काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है । अमृत में सभी शुभ कार्य करें । *💮दिशा शूल ज्ञान---------------उत्तर* परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो पान अथवा पिस्ता खाके यात्रा कर सकते है l इस मंत्र का उच्चारण करें-: *शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l* *भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll* *🚩 अग्नि वास ज्ञान -:* *यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,* *चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।* *दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,* *नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।।* *महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्* *नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।* 9 + 4 + 1 = 14 ÷ 4 = 2 शेष आकाश लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l *💮 शिव वास एवं फल -:* 9 + 9 + 5 = 23 ÷ 7 = 2शेष गौरि सन्निधौ = शुभ कारक *🚩भद्रा वास एवं फल -:* *स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।* *मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।* *💮🚩 विशेष जानकारी 🚩💮* * भडली नवमी (अबूझ मुहूर्त) * गुप्त नवरात्रि समाप्त *💮🚩💮 शुभ विचार 💮🚩💮* उर्व्यां कोऽपि महीधरो लघुतरो दोर्भ्यां धृतो लीलया तेन त्वांदिवि भूतले च ससतं गोवर्धनी गीयसे । त्वां त्रैलोक्यधरं वहामि कुचयोरग्रेण तद् गण्यते किंवा केशव भाषणेन बहुनापुण्यैर्यशो लभ्यते ।। ।।चा o नी o।। रुक्मिणी भगवान् से कहती हैं हे केशव! आपने एक छोटे से पहाड को दोनों हाथों से उठा लिया वह इसीलिये स्वर्ग और पृथ्वी दोनों लोकों में गोवर्धनधारी कहे जाने लगे। लेकिन तीनों लोकों को धारण करनेवाले आपको मैं अपने कुचों के अगले भाग से ही उठा लेती हूँ, फिर उसकी कोई गिनती ही नहीं होती। हे नाथ! बहुत कुछ कहने से कोई प्रयोजन नहीं, यही समझ लीजिए कि बडे पुण्य से यश प्राप्त होता है। *🚩💮🚩 सुभाषितानि 🚩💮🚩* गीता -: विश्वरूपदर्शनयोग अo-11 इहैकस्थं जगत्कृत्स्नं पश्याद्य सचराचरम्‌ ।, मम देहे गुडाकेश यच्चान्यद्द्रष्टमिच्छसि ॥, हे अर्जुन! अब इस मेरे शरीर में एक जगह स्थित चराचर सहित सम्पूर्ण जगत को देख तथा और भी जो कुछ देखना चाहता हो सो देख॥,7॥, (गुडाकेश- निद्रा को जीतने वाला होने से अर्जुन का नाम 'गुडाकेश' हुआ था ।। *💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮* देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐏मेष कोई नया रोग परेशानी का कारण बन सकता है। खान-पान का ध्यान रखें। वाहन व मशीनरी के प्रयोग में लापरवाही न करें। कोई विवाद की आशंका है। स्वाभिमान को ठेस पहुंच सकती है। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। धनार्जन होगा। 🐂वृष प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। भेंट व उपहार देने पर व्यय होगा। बाहर जाने का मन करेगा। कानूनी अड़चन दूर होकर लाभ की स्थिति बनेगी। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। किसी उलझन में फंस सकते हैं। आय में वृद्धि होगी। प्रसन्नता रहेगी। 👫मिथुन शत्रुभय रहेगा। क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। व्यस्तता के चलते थकान रहेगी। भूमि व भवन इत्यादि के काम लाभदायक रहेंगे। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। उत्साह बना रहेगा। 🦀कर्क प्रतिद्वंद्विता में वृद्धि होगी। तनाव रहेगा। लेन-देन में सावधानी रखें। विद्यार्थी वर्ग सफलता हासिल करेगा। किसी मनोरंजक यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। स्वादिष्ट भोजन का आनंद प्राप्त होगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। लाभ होगा। 🐅सिंह बेवजह विवाद हो सकता है। पुराना रोग उभर सकता है। क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। जल्दबाजी में निर्णय न लें। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। आय बनी रहेगी। मित्र सहयोग करेंगे। 🙎कन्या प्रयास सफल रहेंगे। कार्यसिद्धि होगी। प्रसन्नता व उत्साह से कार्य कर पाएंगे। नए काम मिल सकते हैं। किसी मित्र की सहायता करने का अवसर प्राप्त हो सकता है। व्यावसायिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। प्रसन्नता बनी रहेगी। ⚖तुला स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। किसी लंबी यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। घर में अतिथियों का आगमन होगा। शुभ समाचार प्राप्त होंगे। प्रसन्नता का वातावरण निर्मित होगा। धन प्राप्ति सुगम होगी। पारिवारिक सहयोग मिलेगा। 🦂वृश्चिक थकान व कमजोरी रहेगी। शत्रु सक्रिय रहेंगे। चोट व रोग से बचें। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास किसी प्रतिष्ठित व्यक्ति के सहयोग से सफल रहेंगे। नौकरी में अधिकारी प्रसन्न रहेंगे। किसी बड़ी समस्या से मुक्ति मिलेगी। 🏹धनु अचानक कोई बड़ा व्यय होगा। दूसरों से अपेक्षा न करें। किसी अपने से ही विवाद हो सकता है। लेन-देन में सावधानी रखें। शारीरिक कष्ट संभव है। प्रतिद्वंद्विता में वृद्धि होगी। कारोबार अच्छा चलेगा। नौकरी में चैन रहेगा। 🐊मकर शत्रुओं का पराभव होगा। वाणी पर नियंत्रण रखें। घर-परिवार की किसी समस्या के बारे में चिंता रहेगी। बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। नौकरी में उच्चाधिकारी प्रसन्न रहेंगे। 🍯कुंभ आर्थिक उन्नति के लिए नई योजना बनेगी। तत्काल लाभ नहीं होगा। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। कारोबार में वृद्धि के योग हैं। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। व्यावसायिक मतभेद दूर होकर नए काम मिलेंगे। प्रसन्नता बनी रहेगी। 🐟मीन पूजा-पाठ में मन लगेगा। किसी धार्मिक कार्य पर व्यय होने की संभावना है। असहाय लोगों की सहायता करने की प्रेरणा प्राप्त होगी। यात्रा सफल रहेगी। कुसंगति से बचें। कारोबार अच्छा चलेगा। लाभ होगा। 🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏 🌺🌺🌺🌺🙏🌺🌺🌺 #🌅 સુપ્રભાત 🙏 #✋ રાશિફળ & પંચાંગ #🔍 જયોતિષ #🌹good morning 🌹
193 એ જોયું
12 દિવસ પહેલા
#

✋ રાશિફળ & પંચાંગ

🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *********|| जय श्री राधे ||********* 🌺🙏 *महर्षि पाराशर पंचांग* 🙏🌺 🙏🌺🙏 *अथ पंचांगम्* 🙏🌺🙏 *********ll जय श्री राधे ll********* 🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *दिनाँक -: 07/07/2019,रविवार* पंचमी, शुक्ल पक्ष आषाढ """""""""""""""""""""""""""""""""""""(समाप्ति काल) तिथि-------------पंचमी10:18:47 तक पक्ष-----------------------------शुक्ल नक्षत्र-----पूर्वाफाल्गुनी20:13:10 योग----------व्यतापता18:31:14 करण-------------बालव10:18:48 करण------------कौलव20:58:20 वार---------------------------रविवार माह---------------------------आषाढ चन्द्र राशि----------सिंह25:46:25 चन्द्र राशि----------------------कन्या सूर्य राशि----------------------मिथुन रितु------------------------------ग्रीष्म सायन----------------------------वर्षा आयन-------------------दक्षिणायण संवत्सर----------------------विकारी संवत्सर (उत्तर)-----------परिधावी विक्रम संवत-----------------2076 विक्रम संवत (कर्तक)------2075 शाका संवत------------------1941 वृन्दावन सूर्योदय-----------------05:30:53 सूर्यास्त------------------19:17:09 दिन काल---------------13:46:16 रात्री काल--------------10:14:09 चंद्रोदय------------------10:09:01 चंद्रास्त------------------23:13:26 लग्न----मिथुन20°30' , 80°30' सूर्य नक्षत्र--------------------पुनर्वसु चन्द्र नक्षत्र------------पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र पाया--------------------रजत *🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩* टा----पूर्वाफाल्गुनी 09:09:45 टी----पूर्वाफाल्गुनी 14:40:54 टू----पूर्वाफाल्गुनी 20:13:10 टे----उत्तराफाल्गुनी 25:46:25 *💮🚩💮 ग्रह गोचर 💮🚩💮* ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद ======================= सूर्य=मिथुन 19°42 'पुनर्वसु , 1 के चन्द्र =सिंह 17°13'पू oफा o' 2 टा बुध=कर्क 10°15 ' पुष्य' 3 हो शुक्र= मिथुन 10 ° 02, आर्द्रा 2 घ मंगल=कर्क 09 ° 33 'पुष्य' 2 हे गुरु=वृश्चिक 22°44 ' ज्येष्ठा , 2 या शनि=धनु 23°33' पू oषा o ' 4 ढा राहू=मिथुन 23°40 ' पुनर्वसु , 2 को केतु=धनु 23 ° 40' पूo षाo, 4 ढा *🚩💮🚩शुभा$शुभ मुहूर्त🚩💮🚩* राहू काल 17:34 - 19:17अशुभ यम घंटा 12:24 - 14:07अशुभ गुली काल 15:51 - 17:34अशुभ अभिजित 11:56 -12:52शुभ दूर मुहूर्त 17:27 - 18:22अशुभ 💮चोघडिया, दिन उद्वेग 05:31 - 07:14अशुभ चर 07:14 - 08:57शुभ लाभ 08:57 - 10:41शुभ अमृत 10:41 - 12:24शुभ काल 12:24 - 14:07अशुभ शुभ 14:07 - 15:51शुभ रोग 15:51 - 17:34अशुभ उद्वेग 17:34 - 19:17अशुभ 🚩चोघडिया, रात शुभ 19:17 - 20:34शुभ अमृत 20:34 - 21:51शुभ चर 21:51 - 23:07शुभ रोग 23:07 - 24:24*अशुभ काल 24:24* - 25:41*अशुभ लाभ 25:41* - 26:58*शुभ उद्वेग 26:58* - 28:15*अशुभ शुभ 28:15* - 29:31*शुभ 💮होरा, दिन सूर्य 05:31 - 06:40 शुक्र 06:40 - 07:49 बुध 07:49 - 08:57 चन्द्र 08:57 - 10:06 शनि 10:06 - 11:15 बृहस्पति 11:15 - 12:24 मंगल 12:24 - 13:33 सूर्य 13:33 - 14:42 शुक्र 14:42 - 15:51 बुध 15:51 - 16:59 चन्द्र 16:59 - 18:08 शनि 18:08 - 19:17 🚩होरा, रात बृहस्पति 19:17 - 20:08 मंगल 20:08 - 20:59 सूर्य 20:59 - 21:51 शुक्र 21:51 - 22:42 बुध 22:42 - 23:33 चन्द्र 23:33 - 24:24 शनि 24:24* - 25:15 बृहस्पति 25:15* - 26:07 मंगल 26:07* - 26:58 सूर्य 26:58* - 27:49 शुक्र 27:49* - 28:40 बुध 28:40* - 29:31 *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार । शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥ रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार । अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥ अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें । उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें । शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें । लाभ में व्यापार करें । रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें । काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है । अमृत में सभी शुभ कार्य करें । *💮दिशा शूल ज्ञान---------------पश्चिम* परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा चिरौजी खाके यात्रा कर सकते है l इस मंत्र का उच्चारण करें-: *शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l* *भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll* *🚩 अग्नि वास ज्ञान -:* *यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,* *चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।* *दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,* *नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।।* *महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्* *नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।* 5 + 1 + 1 = 7 ÷ 4 = 3 शेष पृथ्वी लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l *💮 शिव वास एवं फल -:* 5 + 5 + 5 = 15 ÷ 7 = 1शेष कैलाश वास = शुभ कारक *🚩भद्रा वास एवं फल -:* *स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।* *मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।* *💮🚩 विशेष जानकारी 🚩💮* *श्री द्वारिकाधीश पाटोत्सव ,मथुरा *सर्वार्थ सिद्धि योग 20:13 से *💮🚩💮 शुभ विचार 💮🚩💮* बंधनानि खलु सन्ति बहूनि प्रेमरज्जुकृतबन्धनमन्यत् । दारुभेदनिपुणोऽपिषण्डघ्निर्निष्क्रियोभवति पंकजकोशे ।। ।।चा o नी o।। दुनिया में बाँधने के ऐसे अनेक तरीके है जिससे व्यक्ति को प्रभाव में लाया जा सकता है और नियंत्रित किया जा सकता है. सबसे मजबूत बंधन प्रेम का है. इसका उदाहरण वह मधु मक्खी है जो लकड़ी को छेड़ सकती है लेकिन फूल की पंखुडियो को छेदना पसंद नहीं करती चाहे उसकी जान चली जाए. *🚩💮🚩 सुभाषितानि 🚩💮🚩* गीता -: विश्वरूपदर्शनयोग अo-11 मन्यसे यदि तच्छक्यं मया द्रष्टुमिति प्रभो ।, योगेश्वर ततो मे त्वं दर्शयात्मानमव्ययम्‌ ॥, हे प्रभो! (उत्पत्ति, स्थिति और प्रलय तथा अन्तर्यामी रूप से शासन करने वाला होने से भगवान का नाम 'प्रभु' है) यदि मेरे द्वारा आपका वह रूप देखा जाना शक्य है- ऐसा आप मानते हैं, तो हे योगेश्वर! उस अविनाशी स्वरूप का मुझे दर्शन कराइए॥,4॥, *💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮* देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐏मेष मित्रों तथा रिश्तेदारों की सहायता करने का अवसर प्राप्त होगा। योजना फलीभूत होगी। कार्य का विस्तार होगा। कार्यसिद्धि से प्रसन्नता रहेगी। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। जल्दबाजी में निर्णय न लें। कारोबार अच्छा चलेगा। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। 🐂वृष पूजा-पाठ में मन लगेगा। सत्संग का लाभ प्राप्त होगा। आय में वृद्धि होगी। कानूनी अड़चन दूर होगी। विवाद को तूल न दें। छोटी-मोटी यात्रा हो सकती है। लेन-देन में सावधानी रखें। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल लाभ देगा। 👫मिथुन क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। वाणी में कटु शब्दों के प्रयोग से बचें। चोट व दुर्घटना से शारीरिक हानि हो सकती है। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। समय प्रतिकूल है। व्यापार में मनोनुकूल लाभ होगा। नौकरी में तनाव रहेगा। 🦀कर्क आय के नए स्रोत प्राप्त हो सकते हैं। राजकीय सहयोग प्राप्त होगा। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। उत्साह व प्रसन्नता से कार्य कर पाएंगे। भाग्य का साथ रहेगा। प्रतिद्वंद्वी सक्रिय रहेंगे। प्रमाद न करें। 🐅सिंह बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। समय की अनुकूलता रहेगी। भरपूर प्रयास करें। सफलता प्राप्त होगी। स्थायी संपत्ति के कार्य बड़ा लाभ दे सकते हैं। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। पार्टनरों का सहयोग मिलेगा। 🙎कन्या बौद्धिक कार्य सफल रहेंगे। परीक्षा व प्रतियोगिता आदि में सफलता प्राप्त होगी। रचनात्मक कार्यों में रुचि रहेगी। नौकरी में नया कार्य कर पाएंगे। कार्य की प्रशंसा होगी। स्वादिष्ट भोजन का आनंद प्राप्त होगा। प्रसन्नता रहेगी। ⚖तुला किसी व्यक्ति विशेष से कहासुनी हो सकती है। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रह सकता है। भावना में बहकर कोई निर्णय न लें। चिंता तथा तनाव रहेंगे। लाभ के अवसर हाथ से निकल सकते हैं। आय में निश्चितता रहेगी। व्यापार ठीक चलेगा। 🦂वृश्चिक पहले की गई मेहनत का फल मिलेगा। कारोबार में वृद्धि होगी। समाजसेवा करने का अवसर प्राप्त होगा। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। आय में वृद्धि होगी। जल्दबाजी न करें। 🏹धनु व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। आत्मसम्मान बढ़ेगा। परिवार के साथ समय सुखमय व्यतीत होगा। पार्टनरों से मतभेद दूर होंगे। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। लाभ होगा। 🐊मकर यात्रा लाभदायक रहेगी। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। भाग्य की अनुकूलता का लाभ लें। कोई बड़ी समस्या उत्पन्न हो सकती है। बुद्धि का प्रयोग करें। आय में वृद्धि होगी। दूसरों के कार्य में दखल न दें। 🍯कुंभ व्ययवृद्धि होगी। आर्थिक उन्नति के प्रयास असफल रहेंगे। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। लेन-देन में सावधानी रखें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। आय में निश्चितता रहेगी। 🐟मीन व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। रुका हुआ धन मिल सकता है। व्यापार-व्यवसाय में उन्नति होगी। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। घर-बाहर प्रसन्नता का वातावरण रहेगा। दूसरों के कार्य में हस्तक्षेप न करें। जल्दबाजी न करें। 🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏 🌺🌺🌺🌺🙏🌺🌺🌺🌺 #✋ રાશિફળ & પંચાંગ #🔍 જયોતિષ
2.9k એ જોયું
15 દિવસ પહેલા
#

✋ રાશિફળ & પંચાંગ

🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *********|| जय श्री राधे ||********* 🌺🙏 *महर्षि पाराशर पंचांग* 🙏🌺 🙏🌺🙏 *अथ पंचांगम्* 🙏🌺🙏 *********ll जय श्री राधे ll********* 🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *दिनाँक -: 06/07/2019,शनिवार* चतुर्थी, शुक्ल पक्ष आषाढ """""""""""""""""""""""""""""""""""""(समाप्ति काल) तिथि-------------चतुर्थी13:09:45 तक पक्ष-----------------------------शुक्ल नक्षत्र---------------मघा22:09:52 योग---------------सिद्वि21:50:08 करण---------विष्टि भद्र13:09:45 करण---------------भाव23:42:50 वार--------------------------शनिवार माह---------------------------आषाढ चन्द्र राशि-----------------------सिंह सूर्य राशि--------------------- मिथुन रितु-----------------------------ग्रीष्म सायन----------------------------वर्षा आयन-------------------दक्षिणायण संवत्सर----------------------विकारी संवत्सर (उत्तर)-----------परिधावी विक्रम संवत-----------------2076 विक्रम संवत (कर्तक)-------2075 शाका संवत------------------1941 वृन्दावन सूर्योदय-----------------05:30:27 सूर्यास्त------------------19:17:15 दिन काल---------------13:46:47 रात्री काल--------------10:13:37 चंद्रोदय------------------09:03:12 चंद्रास्त------------------22:31:45 लग्न----मिथुन19°33' , 79°33' सूर्य नक्षत्र----------------------आर्द्रा चन्द्र नक्षत्र-----------------------मघा नक्षत्र पाया---------------------रजत *🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩* मा----मघा 05:45:02 मी----मघा 11:12:46 मू----मघा 16:41:01 मे----मघा 22:09:52 मो----पूर्वाफाल्गुनी 27:39:24 *💮🚩💮 ग्रह गोचर 💮🚩💮* ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद ======================= सूर्य=मिथुन 19°42 ' आर्द्रा , 4 छ चन्द्र =सिंह 03°13 ' मघा' 1 मा बुध=कर्क 10°45 ' पुष्य' 3 हो शुक्र= मिथुन 08 ° 32, आर्द्रा 1 कु मंगल=कर्क 08 ° 33 'पुष्य' 2 हे गुरु=वृश्चिक 22°44 ' ज्येष्ठा , 2 या शनि=धनु 23°33' पू oषा o ' 4 ढा राहू=मिथुन 23°40 ' पुनर्वसु , 2 को केतु=धनु 23 ° 40' पूo षाo, 4 ढा *🚩💮🚩शुभा$शुभ मुहूर्त🚩💮🚩* राहू काल 08:57 - 10:41अशुभ यम घंटा 14:07 - 15:51अशुभ गुली काल 05:30 - 07:14अशुभ अभिजित 11:56 -12:51शुभ दूर मुहूर्त 07:21 - 08:16अशुभ 🚩गंड मूल05:30 - 22:10अशुभ 💮चोघडिया, दिन काल 05:30 - 07:14अशुभ शुभ 07:14 - 08:57शुभ रोग 08:57 - 10:41अशुभ उद्वेग 10:41 - 12:24अशुभ चर 12:24 - 14:07शुभ लाभ 14:07 - 15:51शुभ अमृत 15:51 - 17:34शुभ काल 17:34 - 19:17अशुभ 🚩चोघडिया, रात लाभ 19:17 - 20:34शुभ उद्वेग 20:34 - 21:51अशुभ शुभ 21:51 - 23:07शुभ अमृत 23:07 - 24:24*शुभ चर 24:24* - 25:41*शुभ रोग 25:41* - 26:57*अशुभ काल 26:57* - 28:14*अशुभ लाभ 28:14* - 29:31*शुभ 💮होरा, दिन शनि 05:30 - 06:39 बृहस्पति 06:39 - 07:48 मंगल 07:48 - 08:57 सूर्य 08:57 - 10:06 शुक्र 10:06 - 11:15 बुध 11:15 - 12:24 चन्द्र 12:24 - 13:33 शनि 13:33 - 14:42 बृहस्पति 14:42 - 15:51 मंगल 15:51 - 16:59 सूर्य 16:59 - 18:08 शुक्र 18:08 - 19:17 🚩होरा, रात बुध 19:17 - 20:08 चन्द्र 20:08 - 20:59 शनि 20:59 - 21:51 बृहस्पति 21:51 - 22:42 मंगल 22:42 - 23:33 सूर्य 23:33 - 24:24 शुक्र 24:24* - 25:15 बुध 25:15* - 26:06 चन्द्र 26:06* - 26:57 शनि 26:57* - 27:49 बृहस्पति27:49* - 28:40 मंगल 28:40* - 29:31 *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार । शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥ रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार । अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥ अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें । उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें । शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें । लाभ में व्यापार करें । रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें । काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है । अमृत में सभी शुभ कार्य करें । *💮दिशा शूल ज्ञान---------------पूर्व* परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो लौंग अथवा कालीमिर्च खाके यात्रा कर सकते है l इस मंत्र का उच्चारण करें-: *शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l* *भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll* *🚩 अग्नि वास ज्ञान -:* *यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,* *चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।* *दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,* *नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।।* *महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्* *नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।* 4 + 7 + 1 = 12 ÷ 4 = 0 शेष पृथ्वी लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l *💮 शिव वास एवं फल -:* 4 + 4 + 5 = 13 ÷ 7 = 6 शेष क्रीड़ायां = शोक ,दुःख कारक *🚩भद्रा वास एवं फल -:* *स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।* *मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।* दोपहर 13:09 तक समाप्त मृत्यु लोक = सर्वकार्य विनाशिनी *💮🚩 विशेष जानकारी 🚩💮* *पुनर्वसु रवि 16:50 पर *💮🚩💮 शुभ विचार 💮🚩💮* पीतः क्रुध्देन तातश्चरणतलहता वल्लभो येन रोषा- दाबाल्याद्विप्रवर्यैः स्ववदनविवरे धार्यते वैरिणी में । गेहं मे छेदयन्ति प्रतिदिवसमुमाकान्तपूजानिमित्तं तस्मात्खिन्नासदात्हंद्विजकुलनिलयं नाथ युक्तं त्यजामि ।। ।।चा o नी o।। हे भगवान् विष्णु, मेरे स्वामी, मै ब्राह्मणों के घर में इस लिए नहीं रहती क्यों की..... अगस्त्य ऋषि ने गुस्से में समुद्र को ( जो मेरे पिता है) पी लिया. भृगु मुनि ने आपकी छाती पर लात मारी. ब्राह्मणों को पढने में बहोत आनंद आता है और वे मेरी जो स्पर्धक है उस सरस्वती की हरदम कृपा चाहते है. और वे रोज कमल के फूल को जो मेरा निवास है जलाशय से निकलते है और भगवान् शिव की पूजा करते है. *🚩💮🚩 सुभाषितानि 🚩💮🚩* गीता -: विश्वरूपदर्शनयोग अo-11 एवमेतद्यथात्थ त्वमात्मानं परमेश्वर ।, द्रष्टुमिच्छामि ते रूपमैश्वरं पुरुषोत्तम ॥, हे परमेश्वर! आप अपने को जैसा कहते हैं, यह ठीक ऐसा ही है, परन्तु हे पुरुषोत्तम! आपके ज्ञान, ऐश्वर्य, शक्ति, बल, वीर्य और तेज से युक्त ऐश्वर्य-रूप को मैं प्रत्यक्ष देखना चाहता हूँ॥,3॥, *💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮* देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐏मेष लाभ के अवसर हाथ आएंगे। कानूनी अड़चन दूर होगी। दांपत्य जीवन सुखमय व्यतीत होगा। नौकरी में उच्चाधिकारी प्रसन्न रहेंगे। कारोबार अच्छा चलेगा। परिवार का सहयोग प्राप्त होगा। घर-बाहर प्रसन्नता का वातावरण रहेगा। उत्साह में वृद्धि होगी। 🐂वृष स्थायी संपत्ति के कार्य कोई बड़ा लाभ दे सकते हैं। प्रॉपर्टी ब्रोकर्स के लिए शुभ समय है। रोजगार में वृद्धि होगी। पार्टनरों का सहयोग प्राप्त होगा। किसी लंबी यात्रा की योजना बन सकती है। रुके काम पूरे होंगे। जल्दबाजी न करें। प्रसन्नता रहेगी। 👫मिथुन पार्टी व पिकनिक का कार्यक्रम बन सकता है। मनोरंजन का अवसर प्राप्त होगा। बौद्धिक कार्य सफल रहेंगे। लेखन व पठन-पाठन के कार्य में ध्यान लगेगा। मनपसंद व्यंजनों का आनंद प्राप्त होगा। व्यस्तता के चलते स्वास्थ्य नरम हो सकता है। धनार्जन होगा। 🦀कर्क जल्दबाजी में कोई निर्णय न लें। विवाद को बढ़ावा न दें। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रह सकता है। किसी बुरी सूचना के मिलने से खिन्नता रहेगी। अति उतावलापन नुकसान का कारण हो सकता है। लेन-देन में लापरवाही न करें। लाभ होगा। 🐅सिंह पहले की गई मेहनत का फल प्राप्त होगा। समय पर धन प्राप्त होगा। कार्यसिद्धि से प्रसन्नता व उत्साह में वृद्धि होगी। मित्रों तथा रिश्तेदारों की सहायता का अवसर प्राप्त होगा। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। कार्यप्रणाली की प्रशंसा होगी। धनार्जन होगा। 🙎कन्या उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। आत्मसम्मान बना रहेगा। शत्रु सक्रिय रहेंगे। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल लाभ देगा। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। उत्साह व प्रसन्नता से कार्य कर पाएंगे। विवाद न करें। ⚖तुला बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। यात्रा लाभदायक रहेगी। कार्यसिद्धि होगी। आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होगी। भेंट व उपहार की प्राप्ति हो सकती है। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। चिंता तथा तनाव में कमी होगी। जोखिम न उठाएं। प्रसन्नता बनी रहेगी। 🦂वृश्चिक अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। आर्थिक स्थिति बिगड़ सकती है। कर्ज लेना पड़ सकता है। दूसरों से अपेक्षा न करें। बनते कार्यों में विलंब होगा। चिंता तथा तनाव रहेंगे। लेन-देन में सावधानी रखें। व्यस्तता रहेगी। नौकरी में कार्यभार रहेगा। 🏹धनु रुका हुआ पैसा मिलने की संभावना है, प्रयास भरपूर करें। सामाजिक कार्यों में रुचि रहेगी। मान-सम्मान मिलेगा। आय के साधन बढ़ सकते हैं। भाग्य का साथ मिलेगा। सभी तरफ सफलता प्राप्त होगी। थकान रह सकती है। प्रतिद्वंद्विता कम होगी। प्रमाद न करें। 🐊मकर योजना फलीभूत होगी। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। धन प्राप्ति सुगम होगी। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। समय की अनुकूलता का लाभ लें। उत्साह व प्रसन्नता से कार्य कर पाएंगे। साधारणतया स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। 🍯कुंभ अध्यात्म में रुचि रहेगी। दान-पुण्य पर व्यय होगा। मानसिक शांति रहेगी। आय में वृद्धि होगी। कोर्ट-कचहरी तथा सरकारी कार्यालयों में सफलता प्राप्त होगी। चिंता तथा तनाव में कमी होगी। कारोबार अच्छा चलेगा। नौकरी में चैन रहेगा। 🐟मीन कार्यसिद्धि के लिए अधिक प्रयास करना पड़ सकते हैं। वाहन व मशीनरी आदि के प्रयोग में जल्दबाजी व लापरवाही से शारीरिक हानि हो सकती है। विरोध का सामना करना पड़ सकता है। विवाद से बचें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। 🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏 🌺🌺🌺🌺🙏🌹🌹🌹🌹 #✋ રાશિફળ & પંચાંગ #રાશિફળ #આજ નું પંચાગ
1.8k એ જોયું
16 દિવસ પહેલા
#

✋ રાશિફળ & પંચાંગ

🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *********|| जय श्री राधे ||********* 🌺🙏 *महर्षि पाराशर पंचांग* 🙏🌺 🙏🌺🙏 *अथ पंचांगम्* 🙏🌺🙏 *********ll जय श्री राधे ll********* 🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *दिनाँक -: 04/07/2019,गुरुवार* द्वितीया, शुक्ल पक्ष आषाढ """"""""""""""""""""""""""""""""""""''(समाप्ति काल तिथि-----------द्वितीया19:09:51 तक पक्ष----------------------------शुक्ल नक्षत्र---------------पुष्य26:29:41 योग------------व्याघात08:19:43 योग---------------हर्शण28:49:55 करण-------------बालव08:38:32 करण------------कौलव19:09:51 वार---------------------------गुरूवार माह---------------------------आषाढ चन्द्र राशि-----------------------कर्क सूर्य राशि--------------------- मिथुन रितु-----------------------------ग्रीष्म सायन----------------------------वर्षा आयन-------------------दक्षिणायण संवत्सर----------------------विकारी संवत्सर (उत्तर)-----------परिधावी विक्रम संवत-----------------2076 विक्रम संवत (कर्तक)------2075 शाका संवत------------------1941 वृन्दावन सूर्योदय-----------------05:29:39 सूर्यास्त------------------19:17:23 दिन काल---------------13:47:44 रात्री काल--------------10:12:39 चंद्रोदय------------------06:49:23 चंद्रास्त------------------20:55:05 लग्न----मिथुन17°39' , 77°39' सूर्य नक्षत्र----------------------आर्द्रा चन्द्र नक्षत्र----------------------पुष्य नक्षत्र पाया---------------------रजत *🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩* हु----पुष्य 10:07:01 हे----पुष्य 15:34:59 हो----पुष्य 21:02:30 ड----पुष्य 26:29:41 *💮🚩💮 ग्रह गोचर 💮🚩💮* ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद ======================= सूर्य=मिथुन 17°42 ' आर्द्रा , 4 छ चन्द्र =कर्क 19°03 ' पुष्य' 1 हु बुध=कर्क 09°45 ' पुष्य' 2 हे शुक्र= मिथुन 06 ° 02, मृगशिरा 4 की मंगल=कर्क 07 ° 33 'पुष्य' 2 हे गुरु=वृश्चिक 22°44 ' ज्येष्ठा , 2 या शनि=धनु 23°33' पू oषा o ' 4 ढा राहू=मिथुन 23°50 ' पुनर्वसु , 2 को केतु=धनु 23 ° 50' पूo षाo, 4 ढा *🚩💮🚩शुभा$शुभ मुहूर्त🚩💮🚩* राहू काल 14:07 - 15:50अशुभ यम घंटा 05:30 - 07:13अशुभ गुली काल 08:57 - 10:40अशुभ अभिजित 11:56 -12:51शुभ दूर मुहूर्त 10:06 - 11:01अशुभ दूर मुहूर्त 15:37 - 16:32अशुभ 🚩गंड मूल26:30* - अहोरात्रअशुभ 💮चोघडिया, दिन शुभ 05:30 - 07:13शुभ रोग 07:13 - 08:57अशुभ उद्वेग 08:57 - 10:40अशुभ चर 10:40 - 12:24शुभ लाभ 12:24 - 14:07शुभ अमृत 14:07 - 15:50शुभ काल 15:50 - 17:34अशुभ शुभ 17:34 - 19:17शुभ 🚩चोघडिया, रात अमृत 19:17 - 20:34शुभ चर 20:34 - 21:51शुभ रोग 21:51 - 23:07अशुभ काल 23:07 - 24:24*अशुभ लाभ 24:24* - 25:40*शुभ उद्वेग 25:40* - 26:57*अशुभ शुभ 26:57* - 28:13*शुभ अमृत 28:13* - 29:30*शुभ 💮होरा, दिन बृहस्पति 05:30 - 06:39 मंगल 06:39 - 07:48 सूर्य 07:48 - 08:57 शुक्र 08:57 - 10:06 बुध 10:06 - 11:15 चन्द्र 11:15 - 12:24 शनि 12:24 - 13:33 बृहस्पति 13:33 - 14:41 मंगल 14:41 - 15:50 सूर्य 15:50 - 16:59 शुक्र 16:59 - 18:08 बुध 18:08 - 19:17 🚩होरा, रात चन्द्र 19:17 - 20:08 शनि 20:08 - 20:59 बृहस्पति 20:59 - 21:51 मंगल 21:51 - 22:42 सूर्य 22:42 - 23:33 शुक्र 23:33 - 24:24 बुध 24:24* - 25:15 चन्द्र 25:15* - 26:06 शनि 26:06* - 26:57 बृहस्पति 26:57* - 27:48 मंगल 27:48* - 28:39 सूर्य 28:39* - 29:30 *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार । शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥ रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार । अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥ अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें । उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें । शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें । लाभ में व्यापार करें । रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें । काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है । अमृत में सभी शुभ कार्य करें । *💮दिशा शूल ज्ञान---------------दक्षिण* परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा केशर खाके यात्रा कर सकते है l इस मंत्र का उच्चारण करें-: *शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l* *भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll* *🚩 अग्नि वास ज्ञान -:* *यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,* *चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।* *दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,* *नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।।* *महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्* *नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।* 2 + 5 + 1 = 8 ÷ 4 = 0 शेष पृथ्वी लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l *💮 शिव वास एवं फल -:* 2 + 2 + 5 = 9 ÷ 7 = 2शेष गौरि सन्निधौ = शुभ कारक *🚩भद्रा वास एवं फल -:* *स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।* *मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।* *💮🚩 विशेष जानकारी 🚩💮* * श्रीजगन्नाथ पुरी रथ यात्रा *बिहारी जी,श्री राधाबल्लभ जी रथ यात्रा *श्री श्रीजी महाराज जी का विरक्त दिक्षोपरांत युवराज पद्मासीन *गुरु पुष्य योग *सर्वार्थ सिद्धि योग26:29 तक *💮🚩💮 शुभ विचार 💮🚩💮* अयममृतनिधानं नायकोऽप्यौषधीनां । अमृतमयशरीरः कान्तियुक्तोऽपि चन्द्रः ।। भवति विगतरश्मिर्मण्डलं प्राप्य भानोः । परसदननिविष्टः को लघुत्वं न याति ।। ।।चा o नी o।। चन्द्रमा जो अमृत से लबालब है और जो औषधियों की देवता माना जाता है, जो अमृत के समान अमर और दैदीप्यमान है. उसका क्या हश्र होता है जब वह सूर्य के घर जाता है अर्थात दिन में दिखाई देता है. तो क्या एक सामान्य आदमी दुसरे के घर जाकर लघुता को नहीं प्राप्त होगा. *🚩💮🚩 सुभाषितानि 🚩💮🚩* गीता -: विश्वरूपदर्शनयोग अo-11 मदनुग्रहाय परमं गुह्यमध्यात्मसञ्ज्ञितम्‌ ।, यत्त्वयोक्तं वचस्तेन मोहोऽयं विगतो मम ॥, अर्जुन बोले- मुझ पर अनुग्रह करने के लिए आपने जो परम गोपनीय अध्यात्म विषयक वचन अर्थात उपदेश कहा, उससे मेरा यह अज्ञान नष्ट हो गया है॥,1॥, *💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮* देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐏मेष आज का दिन आपके लिए शुभ है। आपका वर्चस्व बना रहेगा, परंतु तानाशाहीपूर्ण रवैया न रखें। इससे आपकी प्रतिष्ठा कम होगी। जीवनसाथी से संबंध सुमधुर बने रहेंगे। स्थायी संपत्ति प्राप्त होने के योग बनते हैं। जोड़ों में दर्द हो सकता है। 🐂वृष आज के दिन स्वास्थ्य का ध्यान रखें। उच्च रक्तचाप की समस्या हो सकती है। कार्यक्षेत्र में सफलता मिलेगी। घर में मेहमान आ सकते हैं। अनावश्यक तनाव हो सकता है। अपने आपको कार्य में व्यस्त रखें, स्वस्थ रहेंगे। परिवार का पूर्ण सहयोग मिलेगा। 👫मिथुन आज के दिन भाग्य आपका साथ देगा, परंतु मन में अस्थिरता बनी रहेगी। कार्य होने पर भी मन में आत्मविश्वास की कमी महसूस होगी। पत्नी के स्वास्थ्य को लेकर चिंता रह सकती है। भाग्य साथ देगा, शुभ समाचार प्राप्त होंगे। परिवार में सामंजस्य बनाकर रखें। विद्यार्थियों के लिए दिन शुभ है। 🦀कर्क मन में आत्मविश्वास रहेगा, परंतु आत्मविश्वास स्थिर नहीं रहेगा। मन के अनुसार कार्य नहीं होने से मन अशांत रहेगा। कानूनी मामलों के लिए दिन अनुकूल नहीं है। पैरों के निचले हिस्से में तकलीफ रह सकती है। जीवनसाथी के विचारों से सामंजस्य बनाए रखें। पिता की सलाह से कठिन मामले सुलझेंगे। 🐅सिंह आज का दिन शुभ है। रुके हुए धन की प्राप्ति के योग बन रहे हैं। परिवार में छोटे बच्चों के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। संतान के शिक्षा की समस्याएं हल होंगी। पारिवारिक जीवन में उत्साह बना रहेगा। व्यापार में कुछ नई वृद्धि होने के योग बनते हैं। मान-सम्मान में वृद्धि होगी। कार्यक्षेत्र में प्रभाव बढ़ेगा। 🙎कन्या धन का आगमन होगा। रुका हुआ पैसा मिलने के योग हैं। नौकरी में नए अवसर प्राप्त होंगे। स्थायी संपत्ति, जमीन व मकान प्राप्त होने के योग हैं। नौकरी में पदोन्नति के योग बनते हैं। व्यापार में भी सफलता प्राप्त होगी। पिता का सहयोग प्राप्त होगा। पिता का आशीर्वाद प्राप्त करें। ⚖तुला आज का दिन बहुत शुभ है। अच्छे परिणाम प्राप्त होने से मन में आत्मविश्वास बना रहेगा। धर्म-कर्म में रुचि बढ़ेगी। संतान के द्वारा किसी वस्तु की मांग को पूर्ण करेंगे। यात्रा से व्यवसाय में लाभ प्राप्त होगा। स्वास्थ्य का ध्यान रखें, गर्म वस्तु से त्वचा जल सकती है। 🦂वृश्चिक आज का दिन आपके लिए शुभ नहीं है। साझेदारी के कार्यों में भी विवाद हो सकता है। किसी को कर्ज न दें, नहीं तो धन वापस आने में भी रुकावट आएगी। स्थायी संपत्ति से जुड़े मामले सुलझेंगे। नई प्रॉपर्टी खरीदने के भी योग बन सकते हैं। कानूनी मामलों में भी रुकावट आएगी। 🏹धनु आपका दिन शुभ है। सुख-सुविधाओं में खर्च होने के योग हैं। पहले की खरीदी हुई प्रॉपर्टी से भी लाभ मिलेगा। परिवार में आपका प्रभाव बढ़ेगा। परिवार के लोगों का भी सहयोग प्राप्त होगा। कानूनी कार्यों में सफलता प्राप्त होगी। जीवनसाथी से पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा। जीवनसाथी की सलाह से लाभ भी प्राप्त होगा। 🐊मकर गुप्त शत्रुओं से परेशानी बढ़ेगी। कार्यक्षेत्र में शत्रुओं द्वारा आपका प्रभाव कम करने की कोशिश की जाएगी। सिर एवं मुख संबंधी रोग बढ़ सकते हैं। धन का अपव्यय होगा। पारिवारिक वातावरण बिगड़ सकता है। व्यर्थ के विवाद से बचें। माता के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें। 🍯कुंभ आज मन प्रसन्न रहेगा। दिमाग सक्रिय रहेगा। सही निर्णय कर पाएंगे। धर्म के कार्य में धन खर्च करने से प्रसन्नता रहेगी। संतान के साथ हर्षोल्लासपूर्वक समय व्यतीत करेंगे। आज जो भी कार्य करेंगे, उसमें पूरे मन से करेंगे जिससे आपके मन में प्रसन्नता बनी रहेगी। अपनी आय बढ़ाने के लिए दिमाग में नए सकारात्मक विचार भी आएंगे। 🐟मीन आज मन थोड़ा अशांत रहेगा। मन में अनावश्यक भय रहेगा। माता की सेवा करें व प्रेम से बोलें। घर में माता के आशीर्वाद एवं स्नेह से मन में शांति मिलेगी। ससुराल पक्ष में किसी का स्वास्थ्य खराब रह सकता है। व्यवसाय की दृष्टि से यात्रा हो सकती है। 🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏 🌺🌺🌺🌺🙏🌺🌺🌺🌺 #✋ રાશિફળ & પંચાંગ
231 એ જોયું
18 દિવસ પહેલા
અન્ય એપ પર શેર કરો
Facebook
WhatsApp
લિંક કોપી કરો
કાઢી નાખો
Embed
હું આ પોસ્ટની ફરિયાદ કરવા માંગુ છુ, કારણકે આ પોસ્ટ...
Embed Post
અન્ય એપ પર શેર કરો
Facebook
WhatsApp
અનફોલો
લિંક કોપી કરો
ફરિયાદ કરો
બ્લોક કરો
ફરિયાદ કરવાનું કારણ