अगर हम विधायक होते
#

अगर हम विधायक होते

: क्रिकेटर युवराज ने केन्सर का ईलाज विदेश करवाया ।,मनीषा कोईराला ने विदेश ईलाज करवाया,सोनिया गाधी विदेश ईलाज करवा रही है।स्वर्गवासी हुऐ अनंत कुमार ने विदेश ईलाज करवाया था।गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर साहब और हिन्दी फिल्मों के अभिनेता इरफान खान बीमार हुए और भारत मे पर्याप्त ईलाज न होने के कारण विदेश गये. इनमें से एक हिन्दू है और एक मुस्लिम. भारत में न मन्दिरों की कमी है और न ही मस्जिदों की। दुनिया के सबसे शक्तिशाली ईश्वर शायद भारत में ही होंगे, फिर ये लोग ईलाज करवाने विदेश क्यों गये ? जी हां... यह एक सच है कि शरीर में रोगों का इलाज विज्ञान द्वारा होता है, और भारत विज्ञान के क्षेत्र में पिछड़ा है वरना इनको विदेश नहीं जाना पड़ता. अगर हम लोगों को ऐसी बीमारी हो गयी तो हमारा मरना तय है, और बहाना होगा कि - ''समय पूरा हो गया''। दरअसल अच्छे अस्पताल, अच्छे स्कूल, इनकी ओर वैज्ञानिक दृष्टिकोण, इनकी जरूरत आम आदमी को ज्यादा है। लेकिन यह पैसे वाले हमें मन्दिर मस्जिद में बाँटकर खुद विदेश चले जाते हैं। इस चुनाव में अपने लिए अच्छे और सस्ते अस्पताल और स्कूल, रोजगार माँगिएगा ------ मन्दिर मस्जिद नहीं! महेश कुमार 'आज़ाद'
16.2k ने देखा
12 महीने पहले
#

अगर हम विधायक होते

अगर मै विधायक होता तो सबसे पहले मै खुद को बदलता और सच्चे दिल से लोगो की सहायता करता और भगवान् से प्रार्थना अब भी करता हू और तब भी करता और करता रहूंगा की मेरी वजह से किसी को भी कोई दिक्कत नहीं हो अगर मै विधायक होता तो सबसे ज्यादा गरीब परिवार के लोगो की सहायता करता उनकी हर प्रकार से सहायता करता जिससे उन गरीब परिवार के लोगो को भी शान से जीने का अधिकार मिलता जैसे हम सबको है_____________ अगर मै विधायक होता तो सरकारी सम्पति जैसे सरकारी अस्पताल सरकारी स्कूल आदि इनमे कानून का कड़ाई से पालन करता आज की तारीख मै लोगो का विस्वास सरकारी अस्पतालों और स्कूल से पूरी तरह से ख़तम हो चुका है क्युकी अस्पतालों और स्कूल में सफाई तो पूरी तरह से ख़तम ही है जिधर देखो सिर्फ गन्दगी ही गन्दगी नज़र आएगी और ना ही अस्पताल में अच्छे डॉक्टर है ना ना ही स्कूल में अच्छे मास्टर जो अपनी ड्यूटी पूरी ईमानदारी से निभाए इसलिए मेरा फोकस सबसे ज्यादा इनपर रहता रोड और बिल्डिंग तो बाद में भी बन सकते हैं लेकिन ग्यान बाद में नहीं ले सकते #पढ़ेगा इंडिया तभी तो आगे बढ़ेगा इंडिया वैसे भी होते से फर्क नहीं पड़ता होने और करने से पड़ता है बोल तो कोई भी मैंने भी बोल दिया और आप भी बोल दोगे और ना जाने कितने नेता और मंत्री बोलके भूल भी गए की उन्होने क्या बोला था क्या नहीं और वो उसने पूरा किया भी या नहीं #बोलने वाले नहीं करने वाले बनिए लूटते तो नेता भी
12.1k ने देखा
12 महीने पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post