सोच आपकी आवाज़ मेरी
#

सोच आपकी आवाज़ मेरी

•••••••• ✍ *तू अपनी खूबियां ढूंढ ...* *कमियां निकालने के लिए लोग हैं* *अगर रखना ही है कदम.तो आगे रख ,* *पीछे खींचने के लिए लोग हैं* *सपने देखने ही है .तो ऊंचे देख ,* *निचा दिखाने के लिए लोग हैं* *अपने अंदर जुनून की चिंगारी भड़का ,* *जलने के लिए लोग हैं...* *अगर बनानी है.तो यादें बना ,* *बातें बनाने के लिए लोग हैं..* *प्यार करना है.तो खुद से कर ,* *दुश्मनी करने के लिए लोग है* *रहना है..तो बच्चा बनकर रह ,* *समझदार बनाने के लिए लोग है* *भरोसा रखना है.तो खुद पर रख ,* *शक करने के लिए लोग हैं* *तू बस सवार ले खुद को...* *आईना दिखाने के लिए लोग हैं* *खुद की अलग पहचान बना....* *भीड़ में चलने के लिए लोग है* *तू कुछ करके दिखा दुनिया को..* *तालियां बजाने के लिए लोग हैं..*
3.4k ने देखा
7 महीने पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post