अयोध्या: सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

अयोध्या: सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

*🍂BJP की दोगली नीति. 👉1. विश्व हिन्दू परिषद के नेता अशोक सिंघल 'ब्राह्मण' ने अपनी बेटी सिमा सिंघल की शादी मुख़्तार अब्बास नकवी 'मुस्लिम' से की है। 👉2. मुरली मनोहर जोशी 'ब्राह्मण' ने अपनी बेटी रेणु जोशी की शादी शाहनवाज़ हुसैन 'मुस्लिम' से की है। 👉3. नरेंद्र मोदी (मोट घांची) 'बनिया' ने अपनी भतीजी की शादी 'मुस्लिम' से की है। 👉4. लाल कृष्णा आडवाणी 'ब्राह्मण' ने अपनी बेटी रोशन आडवाणी की दूसरी शादी सलीम खान 'मुस्लिम' से की है। 👉5. लाल कृष्ण आडवाणी 'ब्राह्मण' ने अपनी भतीजी प्रतिभा आडवाणी की शादी अल्ताफ हुसैन 'मुस्लिम' से की है। 👉6. सुब्रमण्यम स्वामी 'ब्राह्मण' ने अपनी बेटी सुहासिनी की शादी नदीम हैदर 'मुस्लिम' से की है। 👉7. शिव सेना प्रमुख बाला साहब ठाकरे 'कायस्थ ब्राह्मण' ने अपनी पोती नेहा ठाकरे की शादी सहजाद 'मुस्लिम' से की है। 👉8. मुसलमानों के खिलाफ सबसे ज़्यादा ज़हर उगलने वाला विश्व हिन्दू परिषद् का नेता प्रवीण तोगडि़या 'ब्राह्मण' ने अपनी बहन की शादी असफाक मीर 'मुस्लिम' से की है। जो आज बहुत बड़ा रईस है। तोगड़िया आज भी अपनी बहन से मधुर सम्बन्ध रखता है। 👉9. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सर संघचालक मोहन भागवत 'ब्राह्मण' ने अपनी भतीजी उर्मिला मातोंडकर की शादी मोहसिन अख्तर कश्मीरी 'मुस्लिम' से की है। जो अब फरजाना खान कही जाती है। 👉10. शिला दीक्षित 'ब्राह्मण' ने अपनी बेटी लतिका दीक्षित की शादी सैयद मोहम्मद इमरान 'मुस्लिम' से की है। 👉11. अशोकन मणी 'ब्राह्मण' ने अपनी बेटी अखिला मणी की शादी शफीन जहाँ 'मुस्लिम' से की है। 👉12. इंदिरा गांधी 'ब्राह्मण' थी जो अपनी शादी फिरोज खान 'पारसी' से की थी। 👉13. नूतन सिन्हा 'कायस्थ' है जो अपनी शादी अब्दुलबारी सिद्दिकी 'मुस्लिम' से की है। 👉14. मोनिका बेदी 'ब्राह्मण' है जो अपनी शादी अबू सलेम 'मुस्लिम' से की है। 👉15. संगीता बिजलानी 'ब्राह्मण' है जो अपनी शादी अजहरुद्दीन 'मुस्लिम' से की है। 👉16. पायल नाथ 'ब्राह्मण' है जो अपनी शादी उमर अब्दुल्ला 'मुस्लिम' से की है। 👉17. गौरी छिब्बर ब्राह्मण है जो अपनी शादी शाहरुख खान 'मुस्लिम' से की है। 👉18. रीमा दत्ता एवं किरण राव ब्राह्मण है जो अपनी शादी अमीर खान 'मुस्लिम' से की है। 👉19. करीना कपूर ब्राह्मण है जो अपनी शादी सैफ अली खान 'मुस्लिम' से की है। 👉20. शर्मीला टैगोर ब्राह्मण है जो अपनी शादी 'नवाब पटौदी, मंसूर अली खान 'मुस्लिम' से की है। 👉21. अधुना भवानी ब्राह्मण है जो अपनी शादी फरहान अख्तर 'मुस्लिम' से की है। 👉22. आयशा टाकिया ब्राह्मण हैं जो अपनी शादी फरहान आजमी 'मुस्लिम' से की है। 👉23. अमृता अरोड़ा ब्राह्मण है जो अपनी शादी शकील लदाक 'मुस्लिम' से की है। 👉24. मलाइका अरोड़ा ब्राह्मण है जो अपनी शादी सलमान खान के भाई अरबाज खान 'मुस्लिम' से की है। 👉25. सिमा सचदेवा ब्राह्मण है जो अपनी शादी सलमान खान के छोटे भाई सुहैल खान 'मुस्लिम' से की है। 👉26. अवंतिका मलिक ब्राह्मण है जो अपनी शादी आमिर खान के भतीजा इमरान खान 'मुस्लिम' से की है। 👉27. मलिक पारेख ब्राह्मण है जो अपनी शादी संजय खान के बेटा जायदा खान 'मुस्लिम' से की है। 👉28. नताशा पांड्या ब्राह्मण है जो अपनी शादी फिरोज खान के बेटा फरदीन खान 'मुस्लिम' से की है। 👉29. सुतपा सिकदर ब्राह्मण है जो अपनी शादी इरफान खान मुस्लिम से की है। 👉30. रतना पाठक ब्राह्मण है जो अपनी शादी नसरुद्दीन शाह से की है। 👍 तो क्या धर्म के इन ठेकेदारों को मुस्लिम दामाद अधिक पसंद हैं? ☺*समझ जाओ, ये लोग धर्म के नाम पर सिर्फ राजनीति करते हैं और हिंदू - मुसलमान दंगे करवाते हैं लेकिन मुसलमानों के खिलाफ सबसे ज्यादा जहर उगलने वाले नेताओं की रिस्तेदारी भी मुसलमानो से ही है।* 🌹बड़ी मेहनत की है यह लिस्ट पाने में।🌹 👉 अगर आप सच्चे देश भक्त हैं, भारत को सही दिशा निर्देश देना चाहते है तो इस लिस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे। धन्यवाद : #सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या सुनवाई
Ayodhya Ram Mandir Hearing in SC : राम मंदिर- बाबरी मस्जिद विवाद पर आज से सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट Pray before God to stop activities of anti Christ *मसीही भाइयों के लिऐ खतरा..!!* देश के तमाम मसीही नौजवान भाईयो को सुचित किया जाता है की, *RSS* के द्वारा एक "दुर्गा वाहिनी" नाम से एक मुहिम चलाई गई है जिसका मकसद मसीही लडको को बदनाम करके फसाना हे मतलब ये हे कि *RSS* ने ऐसी कुछ लडकियों का ग्रुप बना रखा है जिनका मकसद सिर्फ मसीही लडको को हि प्यार के चक्कर मे फसाकर मरवाना पिटवाना और भी सब कुछ कानूनी कार्यवाही मे फसाना है.... अभी हाल हि मे कुछ दिनो मे इसका खुलासा भी हुआ है और राजस्थान, मध्यप्रदेश में घटी कुछ वारदातें हमारे सामने आ चुकी है. और कुछ मसीही नौजवान इसका शिकार हो चुके है.... आपको इस दुर्गा वाहिनी मुहिम कि राजनीति भी बता दू... सबसे पहले मोबाईल नम्बर को *True Caller* पर *Search* किया जाता है जिससे ऊनको ये पता चल जाता हे कि लडका मसीही है...या किसी और तरीकेसे मसीही लडकों की पूरी जानकारी हासिल की जाती है. इसमे होता यूँ कि आपके पास किसी अंजान लडकी का फोन आएगा और शुरु मे वो अंजान बनके बात करेगी. दोस्ती बढायेगी और फिर कुछ दिनो बाद मिलने बुलाएगी और जहाँ आपको मिलने बुलाएगी वहाँ पहले से हि *RSS* कि फिल्डींग जमी रहेगी और फिर उसको मारा कुटा जाएगा सरे आम बिच बाजार मे पिटेंगे और विडियो बनाकर *WhatsAap* पर डाल दि जाएगी, और ये कहा जायेगा की, मसीही लडके हिंदू लडकीयों को फसा रहे हैं.ताकी मसीही समाज बदनाम हो.... और ये सब *Game* आपके साथ *Facebook,Whatsaap* पर भी खेला जा सकता है... सभी मसीही नौजवानों से निवेदन है की, अंजान लडकी से दोस्ती मत किजिये, उससे मिलने ना जायें. इसलिए तमाम मसीही नौजवान भाईयो से निवेदन है कि इस प्रकार कि घटना का शिकार होने से बचे और इस *Post* को सभी मसीही ग्रुप तक पहुचाने मे सहायता करे ताकी कोई मसीही इस दुर्गा वाहीनी मुहिम का शिकार ना हो और *RSS* कि ये बडी साज़िश नाकाम हो जाए.. *जनहित में* *रेव्ह मोईदिम* *09425291968* *🙏🏽Please Send All Groups🙏🏽* RSS se Jude VHP, Bajrang Dal,ko CIA America ne dharmik ugrawadi sangthan batataya.hali mein BJP Yuwa Morcha ne Swamy Agnivesh ki pitai.Desh aur anewali pidhi bachao.PM Modiji sunte nahi. #सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या सुनवाई
जानिये चीफ जस्टिस बने रंजन गोगोई के अब तक के सफ़र के बारे में | Chief Justice Ranjan Gogoi Biography Pray before God to stop activities of anti Christ *मसीही भाइयों के लिऐ खतरा..!!* देश के तमाम मसीही नौजवान भाईयो को सुचित किया जाता है की, *RSS* के द्वारा एक "दुर्गा वाहिनी" नाम से एक मुहिम चलाई गई है जिसका मकसद मसीही लडको को बदनाम करके फसाना हे मतलब ये हे कि *RSS* ने ऐसी कुछ लडकियों का ग्रुप बना रखा है जिनका मकसद सिर्फ मसीही लडको को हि प्यार के चक्कर मे फसाकर मरवाना पिटवाना और भी सब कुछ कानूनी कार्यवाही मे फसाना है.... अभी हाल हि मे कुछ दिनो मे इसका खुलासा भी हुआ है और राजस्थान, मध्यप्रदेश में घटी कुछ वारदातें हमारे सामने आ चुकी है. और कुछ मसीही नौजवान इसका शिकार हो चुके है.... आपको इस दुर्गा वाहिनी मुहिम कि राजनीति भी बता दू... सबसे पहले मोबाईल नम्बर को *True Caller* पर *Search* किया जाता है जिससे ऊनको ये पता चल जाता हे कि लडका मसीही है...या किसी और तरीकेसे मसीही लडकों की पूरी जानकारी हासिल की जाती है. इसमे होता यूँ कि आपके पास किसी अंजान लडकी का फोन आएगा और शुरु मे वो अंजान बनके बात करेगी. दोस्ती बढायेगी और फिर कुछ दिनो बाद मिलने बुलाएगी और जहाँ आपको मिलने बुलाएगी वहाँ पहले से हि *RSS* कि फिल्डींग जमी रहेगी और फिर उसको मारा कुटा जाएगा सरे आम बिच बाजार मे पिटेंगे और विडियो बनाकर *WhatsAap* पर डाल दि जाएगी, और ये कहा जायेगा की, मसीही लडके हिंदू लडकीयों को फसा रहे हैं.ताकी मसीही समाज बदनाम हो.... और ये सब *Game* आपके साथ *Facebook,Whatsaap* पर भी खेला जा सकता है... सभी मसीही नौजवानों से निवेदन है की, अंजान लडकी से दोस्ती मत किजिये, उससे मिलने ना जायें. इसलिए तमाम मसीही नौजवान भाईयो से निवेदन है कि इस प्रकार कि घटना का शिकार होने से बचे और इस *Post* को सभी मसीही ग्रुप तक पहुचाने मे सहायता करे ताकी कोई मसीही इस दुर्गा वाहीनी मुहिम का शिकार ना हो और *RSS* कि ये बडी साज़िश नाकाम हो जाए.. *जनहित में* *रेव्ह मोईदिम* *09425291968* *🙏🏽Please Send All Groups🙏🏽* RSS se Jude VHP, Bajrang Dal,ko CIA America ne dharmik ugrawadi sangthan batataya.hali mein BJP Yuwa Morcha ne Swamy Agnivesh ki pitai.Desh aur anewali pidhi bachao.PM Modiji sunte nahi. #सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या सुनवाई
*अयोध्या की विवादित जगह पर बौद्ध क्यों कर रहे हैं दावा?* याचिकाकर्ता विनीत कुमार मौर्य ने दावा किया है कि आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (एएसआई) की खुदाई में मिले गोलाकार स्तूप, दीवार और खंभे बौद्ध विहार की विशिष्टता हैं न कि मंदिर या मस्जिद राम मंदिर-बाबरी मस्जिद विवाद के बीच सुप्रीम कोर्ट में बौद्धों के दावे की भी सुनवाई होगी. बौद्धों के दावे पर सुप्रीम कोर्ट में याचिका स्वीकार हो गई है. याचिकाकर्ता विनीत कुमार मौर्य ने दावा किया है कि विवादित जमीन पर मंदिर, मस्जिद नहीं, बौद्ध धर्म से जुड़ा ढांचा था. आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (एएसआई) की खुदाई में मिले गोलाकार स्तूप, दीवार और खंभे बौद्ध विहार की विशिष्टता हैं न कि मंदिर या मस्जिद की. याचिकाकर्ता अयोध्या का ही रहने वाला है.सुनवाई के लिए मौर्य भी इस वक्त दिल्ली में हैं. मौर्य ने न्यूज18 हिंदी से बातचीत में दावा किया कि वो इस मामले में तीसरे पक्षकार हैं. उन्होंने कहा, "अयोध्या में मंदिर-मस्जिद से पहले बौद्ध स्थल था. एएसआई द्वारा उस जगह पर की गई खुदाई के आधार पर मैंने यह दावा किया है. एएसआई ने विवादित स्थल पर चार बार खुदाई करवाई थी. जिसमें पता चला है कि वहां ऐसे स्तूप, दीवार और खंभे थे, जो बौद्ध विहार की निशानी हैं."         अयोध्या: विवादित स्थल पर बौद्धों का भी दावामौर्य ने कहा, "वहां 50 गड्ढों की खुदाई हुई है. जिसमें किसी भी मंदिर या हिंदू धर्म से संबंधित ढांचे के अवशेष नहीं मिले हैं. पुरातात्विक स्रोतों, चीनी यात्रियों (फाह्यान, ह्वेनसांग) के यात्रा वृतांतों, बौद्ध साहित्यों (त्रिपिटक) के अनुसार अयोध्या की विवादित भूमि एक बौद्ध स्थल है. अयोध्या को हम साकेत मानते हैं. वैज्ञानिक प्रमाणों के आधार पर ही कोर्ट ने हमारी याचिका स्वीकार की है."इसे भी पढ़ें: अयोध्या मामला: आजाद भारत में 68 साल से चल रही सुनवाई, अभी तक आए मात्र 2 फैसलेमंदिर-मस्जिद विवाद के बीच दावा किया गया है कि राजा प्रसेनजीत के समय अयोध्या (साकेत) कहलाता था. अयोध्या बौद्ध धर्म का बड़ा केंद्र रहा है. यह शहर श्रावस्ती, कुशीनगर जैसे बौद्ध केंद्रों के पास बसा है. मौर्य ने अदालत से अपील की है कि वह इस विवादित जगह को कुशीनगर, सारनाथ, श्रावस्ती और कपिलवस्तु की तरह बौद्ध विहार घोषित करे     क्या अयोध्या बौद्धों की नगरी थी? इस मामले में विश्व हिंदू परिषद (VHP) के संयुक्त महासचिव सुरेंद्र जैन हमसे पहले ही कह चुके हैं, "अयोध्या बहुत सारे संप्रदायों की पवित्र भूमि है, वो बौद्धों की भी है, जैनियों की भी है. हमें बौद्धों के दावे से कोई परेशानी नहीं है. वहां पर सवाल ये है कि बाबर का कुछ रहेगा या नहीं. बाकी से कोई दिक्कत नहीं है. बाकी तो हम बैठकर समाधान कर लेंगे. वहां बाबर का अवशेष नहीं रहना चाहिए. अयोध्या में भगवान राम का मंदिर बनना चाहिए. भगवान बुद्ध विष्णु के अवतार थे और भगवान राम भी विष्णु के अवतार थे. #सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या सुनवाई
#सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या सुनवाई