🕌💔Muharram💔🕌

🕌💔Muharram💔🕌

#

🕌💔Muharram💔🕌

ताजिया और मुहर्रम:आला हज़रत इमाम अहमद रज़ा खान अलैहे रहमा बरेलवी का फतवा है ताजिया निकालना, ढोल बजाना, औरतो का सीना पीटना, काले कपड़े पहनना, अपने जिस्म को जानबूझकर तकलीफ देना (तलवार, सुइये और दीगर लोहे के औजार से जिस्म को जख्मी करना) ये सब काम नाजाइज़ है । क्योंकि मुहर्रम का दिन इस्लाम के लिए गम का दिन नहीं बल्कि इस दिन इमामे हुसैन की शहादत से इस्लाम को नई ज़िन्दगी मिली । ❌👇मुहर्रम के दिन ये ना करें-👇❌ 1. काले कपडे पहनना ।❌ 2. ताजिया निकालना ।❌ 3. मातम मनाना ।❌ 4. औरतो का सीना पीटना ।❌ 5. ढोल बजाना ।❌ 6. अपने जिस्म को तकलीफ देना ।❌ 7. औजारों से खेलना ।❌ 8. दिखावा करना ।❌ 9. ताजिया देखने जाना ।❌ 10. ताजिये के नीचे से निकलना❌ । ❌☝🏿❌☝🏿❌☝🏿❌☝🏿❌ 👇💯✅मुहर्रम के दिन क्या करे ✅💯👇- 1. सबसे अफज़ल काम है रोज़ा रखे । जहाँ तक हो सके 9 और 10 मुहर्रम को दो रोज़े रखे ।क्योंकि मुहर्रम की 10 तारीख एक दिन तो यहूदी भी रोज़ा रखते थे ।💯✅ 2. शरबत या दलीम (अलग अलग दालों से बनने वाला पकवान) पर फातिहा दिलाये 💯✅। 3. इबादत करे । मुहर्रम के 10 दिन इमामे हुसैन की अज़ीम शहादत का बयान करे ।💯✅ 4. यह नसीहत ले की या अल्लाह तेरे रसूल के नवासे ने तेरे दीन के लिए अपनी गर्दन कटा दी अगर ज़रुरत पढ़ी तो में भी इन्शाल्लाह तेरी राह में शहीद हो जाऊँगा ।💯✅ याद रखना ये ताजिया खेलना और दिखावा करना अगर अल्लाह इससे नाराज़ हो गया तो कल क़यामत के दिन हमें बचाने वाला कोई नहीं होगा । जो पक्का सुन्नी है और जो अपने रसूल और उसके नवासे इमामे हुसैन से मोहब्बत करता है वो ज़िन्दगी में कभी भी ताजिया देखने नहीं जाएगा । और अपने घर वालो और दोस्तों को भी रोकेगा । *याद रखना कल क़यामत के दिन जवाब आपको देना है । अब फैसला आपके हाथ में है*
563 views
4 months ago
#

🕌💔Muharram💔🕌

10 Moharram K Din Insan Ki Her DUA, TAUBA Qubool Hogi, Q K Is Din Hazrat Aadam (ALAIHISSALAM) Ki Tauba Qubool Hui Thi... Hazrat Moosa (ALAIHISSALAM) Ki Dua Qubool Hui Thi... Hazrat Isa (ALAIHISSALAM) Asmän Per Utha Liye Gaye They, Hazrat Younis (ALAIHISSALAM) Machhli K Pait Se Nikäley Gaye The, Hazrat Muhammad Mustafa (Sallallaho Alaihe Wasallam) NE FARAAN KI CHOTI PAR nabuwat ka ailaan isi taareekh ko kiya. aur 10 Muharram ko Nooh ALAIHISSALAM. ki kashti toofan se paar aayi thi, isi taareekh ko IBRAHEEM ALAIHISSALAM. aatishe namrood se bahar nikle the, isi taareekh ko AYYUB ALAIHISSALAM. ko keede se nijaat mili, isi tareekh ko ISLAAM ko bachane ke liye MERE NABI KE nawase HAZRAT HUSSAIN RADIYALLAHU ANHU. Ne karbala ki zameen par apne aal ki aur apni QURBANI di, aur isi taareekh ko QAYAMAT BHI AAYEGI....!!!!!!!!!!!! Isliye Is Din Allah Se Apne Gunaho Ki Muafi Mangen Or Jo Dua Mange Mujhe Bhi Plz Shamil Krlen Allah Taala Qubul Farmayega. IN'SHA'ALLAH NABI KARIM (Sallahu Wallaihi Wassallam) Ne Frmaya : In Mauqon par Foran DUA Mango.., Us Waqt DUA Radd Nahi Hogi, 1. Jab dhoop ma barish ho rhi ho, 2. Jab azaan ho rhi ho, 3. Safer k doran.. 4.Juma ky dn.. 5.Raat ko ankh khuly to us wqt 6.mosibt ky wkt 7.frz nmazon ky bad AAP (Sallahu Wallaihi Wassallam) Ne farmaya: Allah US k chehray ko roshan karay jo hadees Sun k Aagy pohnchata hai." 1)Subhanallah 2)Alhamdulilah 3)AllahuAkbar Pehle send kardo, Kyunki jabtak koi yeh MSG Padta Rahega, Jannat me Aap ke Naam ka Ped Lagta rahega, Dont stop
389 views
4 months ago
ShareChat - Best & Only Indian Social Network - Download Now
Share on other apps
Facebook
WhatsApp
Copy Link
Delete
Embed
I want to report this post because this post is...
Embed Post