22 मार्च की न्यूज
#

22 मार्च की न्यूज

191 ने देखा
8 महीने पहले
हिसार. खेलते हुए 70 फीट गहरे बोरवेल में गिरा बच्चा 26 घंटे बाद सुरक्षित है। सेना ने बोरवेल में सीसीटीवी के माध्यम से बच्चे की लोकेशन ली। इसके बाद संसाधनों के माध्यम से बच्चे को खाने के लिए बिस्किट भेजे। इसमें बच्चे ने 4 बिस्किट और जूस पीया है। बच्चा और खान-पान की सामग्री कैमरे की निगरानी में है। बोरवेल से रुक-रूक कर बच्चे के रोने की आवाज आ रही है। सेना लगातार उस पर नजर बनाए हुए है। बच्चे को ऑक्सीजन की कमी न हो, इसलिए बोरवेल में पाइप डालकर ऑक्सीजन पहुंचाई जा रही है। हिसार के बालसमंद क्षेत्र की एक ढाणी के पास बुधवार को बच्चे खेल रहे थे। शाम 5:15 बजे डेढ़ साल का नदीम एक खुले बोरवेल में गिर गया। साथी बच्चों ने चिल्लाते हुए परिजनों को सूचना दी। परिजन मौके पर पहुंचे और पुलिस और प्रशासन को जानकारी दी गई। बुधवार रात करीब 8.45 बजे से सेना ने रेस्क्यू शुरू किया। डीसी अशोक कुमार मीणा व एसपी शिव चरण भी मौके पर पहुंचे। पाेकलेन मशीन नहीं आई तो जेसीबी से खुदाई शुरू की गई। सेना ने बोरवेल के बगल में समानान्तर गड्‌ढा खोदना शुरू किया। मशीन से 51 फीट खुदाई की गई। बाद में 4 फीट हाथ से खुदाई की। 22 घंटे से लगातार रेस्क्यू चल रहा है। सेना सूत्रों की मानें तो अब बच्चे की तरफ मूव करने के लिए आगे की खुदाई भी हाथ से की जाएगी। इसके लिए अभी 5-6 घंटे और रेस्क्यू में लग सकते हैं। खबर और फोटो- मोहन सरताना
#

22 मार्च की न्यूज

22 मार्च की न्यूज - हरियाणा / बोरवेल में गिरे बच्चे को निकालने के लिए 22 घंटे से रेस्क्यू ; सेना ने 4 बिस्किट और जूस पिलाया • बोरवेल में पाइप डालकर पहुंचाई जा रही बच्चे को ऑक्सीजन , लगभग 6 घंटे और चलेगा रेस्क्यू 70 फीट गहरे बोरवेल में बुधवार शाम सवा 5 बजे गिर गया था डेढ़ साल का बच्चा नदीम - ShareChat
3.8k ने देखा
8 महीने पहले
श्रीगंगानगर/खाटलबाना. श्रीगंगानगर जिले के सीमावर्ती क्षेत्र में शुक्रवार सुबह फिर दुश्मन देश का यूएवी दिखाई दिया। सेना ने मोटर्र गोले दागे तो वापस भाग गया। हालांकि अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है कि यूएवी को मार गिराया या वापस भागने में कामयाब हो गया। यह घटना सुबह 5:56 बजे की है। तारबंदी के नजदीक क्यू हेड चौकी, 5एच बड़ा, मदेरा एरिया में ड्रोन देखा गया था। रडार में आते ही भारतीय सेना द्वारा 3 मिनट तक फायरिंग में मोर्टार दाग कर वापिस खदेड़ दिया गया। 3 मिनट तक हुए धमाकों से आसपास गांव के लोग अचानक घरों के बाहर आ गए और सोते हुए जागे गए। धमाके इतने तेज थे कि आसपास गांव के लोगों को कई देर तक गूंजते वह आसमान में आग के गोले दिखाई दिए । गांव मदेरा, कोनी, 5h बड़ा खाटलबाना ,फतुही वे सभी सीमावर्ती गांव के लोगों को आर्मी द्वारा विशेष हिदायत दी गई है कि फायरिंग के दौरान कोई भी घर के बाहर ना निकले क्योंकि गोलियों में मोर्टार के खोल नीचे तेज गति से गिरते हैं। क्योंकि यह जहरीले भी होते हैं इनको नहीं छूने के लिए गांव के लोगों को बोला हुआ है।
#

22 मार्च की न्यूज

22 मार्च की न्यूज - राजस्थान / भारतीय सीमा में घुसा पाकिस्तान का यूएवी , मोटर्र दागे तो वापस भागा । रडार में आते ही भारतीय सेना द्वारा 3 मिनट तक फायरिंग में मोर्टार दाग कर वापिस खदेड़ दिया गया - ShareChat
2.9k ने देखा
8 महीने पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post