Rs 2.50
पेट्रोल-डीजल पर केरल और बिहार ने नहीं दी राहत, बनाया यह 'बहाना' वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कमी के लिए राज्यों से भी वैट में कमी का अनुरोध किया, लेकिन केरल और बिहार ने अपनी बात कहते हुए फिलहाल ऐसा करने से इनकार कर दिया है. पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी के बाद गुरुवार को वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इसकी कीमतों में 2.50 रुपये प्रति लीटर की कटौती का ऐलान कर दिया और ऐसा ही राज्यों से करने का अनुरोध भी किया, लेकिन कुछ राज्यों ने उनके अनुरोध को नहीं माना जिसमें बिहार और केरल जैसे राज्य भी शामिल हैं.  वित्त मंत्री जेटली के ऐलान के बाद कुछ ही घंटे के अंदर 11 बीजेपी शासित राज्यों ने वैट में कमी लाते हुए पेट्रोल-डीजल या फिर सिर्फ पेट्रोल या सिर्फ डीजल में राहत दे दी. महाराष्ट्र पेट्रोल में कमी का ऐलान करने वाला पहला राज्य बना. हालांकि उसने डीजल में अभी कोई राहत नहीं दी है. अब तक 12 राज्यों ने राहत देने का ऐलान कर रखा है. महाराष्ट्र (पेट्रोल) के अलावा झारखंड ने भी सिर्फ एक (डीजल) में ही छूट दिया था लेकिन अब वहां पर पेट्रोल में भी यही छूट देने का ऐलान किया. जबकि गुजरात, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, असम, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा और त्रिपुरा ने दोनों में ही छूट देने का फैसला लिया. अब जम्मू-कश्मीर में भी पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 5 रुपये की कमी आएगी.  लेकिन इसके इतर बिहार और केरल ने अपने राज्य के लोगों के लिए फौरी तौर पर अपनी जनता को कोई राहत देने से मना कर दिया. बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि हमें जेटली जी से कोई पत्र नहीं प्राप्त हुआ है. पहले हम आदेश देखेंगे फिर पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर फैसला करेंगे. हर राज्यों की अपनी-अपनी स्थिति होती है, इसलिए पहले पत्र आने दीजिए.
#

Rs 2.50

Rs 2.50 - ShareChat
1.1k ने देखा
1 साल पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post