15 अक्टूबर की न्यूज़
पहल / ईमानदार करदाताओं को किया जाएगा सम्मानित, एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन पर मिलेगी तवज्जो यूटिलिटी डेस्क. केंद्र सरकार ईमानदारी से लगातार टैक्स भरने वालों को सम्मानित और प्रोत्साहित करने की योजना बना रही है। अधिकारियों ने रविवार को बताया कि एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन और नेशनल हाईवे पर टोल बैरियर जैसी जगहों के इस्तेमाल में इन लोगों को प्राथमिकता दी जाएगी। इसके साथ ही ऐसे लोगों को पासपोर्ट बनवाने में भी प्रियॉरिटी दी जाएगी। इसके अलावा इनके टैक्स से जुड़े काम भी प्राथमिकता से निपटाए जाएंगे। गठित की गई है कमेटी 1. इसके लिए सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस के तहत एक कमेटी गठित की गई है। यह कमेटी अन्य देशों में दी जा रही रिवॉर्ड स्कीम का रिव्यू करेगी और फिर भारतीय परिस्थिति के अनुसार स्कीम के मानदंड का निर्धारण किया जाएगा। समिति जल्दी ही अपनी रिपोर्ट सौंपेगी। इसके प्रस्ताव को वित्त मंत्रालय पीएमओ को भेजेगा। रिवॉर्ड पाने वालों का चयन टैक्स के अमाउंट से न होकर उनके रिटर्न फाइल करने की रेगुलरटी पर बेस्ड होगा। 2. उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल टैक्स ऑफिसर्स के साथ बैठक में कहा था कि विभाग करदाता सेवाएं बढ़ाए और ईमानदार करदाताओं को उचित महत्व दें। आयकर विभाग द्वारा इससे पहले भी करदाताओं के लिए सम्मान नाम से रिवॉर्ड स्कीम शुरू की गई थी। लेकिन 2004 के बाद इसे बन्द कर दिया गया। लगातार टैक्स या रिटर्न भरने वालों का बड़े सरकारी अधिकारियों के हाथों नागरिक अभिनंदन करवाने का भी प्रस्ताव है। 3. ईमानदार करदाताओं को प्रोत्साहित करने के लिए ऐसी ही स्कीम्स अन्य देशों में भी चल रही हैं। जापान के मॉडल करदाताओं को वहां के सम्राट के साथ फोटो खिंचाने का मौका मिलता है। वहीं दक्षिण कोरिया में इस तरह के करदाताओं को एक सर्टिफिकेट दिया जाता है, जिसका इस्तेमाल करके वे एयरपोर्ट पर वीआईपी लॉज और पार्किंग की सुविधा मुफ्त में पा सकते हैं। इसके अलावा कई अन्य देशों में भी कर प्रोत्साहन स्कीम लागू हैं। दो तरीके से होगी सहूलियत तत्काल रिफंड 1. बेंगलुरु में आयकर विभाग के सेंट्रल प्रोसेसिंग सेंटर की क्षमता बढ़ाने के लिए कैबिनेट नोट भेजा जा चुका है। इसकी क्षमता और ऑटोमेशन बढ़ने से टैक्स भरने वालों को रिफंड तत्काल जारी हो सकेगा। छोटे करदाताओं के रिटर्न की कुछ घंटों में जांच संभव होगी। एयरपोर्ट-रेलवे स्टेशन पर तरजीह 2. विभिन्न सार्वजनिक सेवाओं में तरजीह देने की योजना है। एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, टोल टैक्स बैरियर, पासपोर्ट इत्यादि पर विभिन्न सुविधाओं में कतार से छूट देकर तरजीह दी जा सकती है। कैसे मिलेगी सुविधा? 3. ऐसे करदाताओं को एक विशिष्ट पहचान संख्या दी जा सकती है या उनके पैन नंबर को विशिष्ट दर्जा दिया जा सकता है। ऐसा करने से ईमानदार करदाताओं की पहचान करने में आसानी होगी और फिर उन्हें प्रोत्साहित किया जाएगा।
#

15 अक्टूबर की न्यूज़

15 अक्टूबर की न्यूज़ - Investing activitio . Capital expenditures Purchases of restaurant 10 . १e / Cas staurant busines . cash used for iny Financ . , activities Vet shori erm borrowings ong - tem inancing issu ng - term nancing re easury s ck purch mon si ek div eeds this s fax ० P Ex Othe Income Tax रिवॉर्ड पाने वालों का चयन टैक्स के अमाउंट से न होकर रिटर्न फाइल करने की । रेगुलरटी पर होगा आधारित - ShareChat
6.4k ने देखा
10 महीने पहले
#

15 अक्टूबर की न्यूज़

*उत्तरप्रदेश में असलहा का लाइसेंस बनवाने के लिए फार्म 15 अक्टूबर से मिलेगा-* *प्रदेश में 15 अक्टूबर से जिलों के असलहा विभाग से 200 रुपये में फार्म प्राप्त होंगे-* *असलहा का शौक रखने वालों को अब ज्यादा जेब ढीली करनी होगी-* *रिवॉल्वर/ पिस्टल का लाइसेंस बनवाने के लिए आवेदकों को अब 50 हजार रुपये की एनएससी देनी होगी-* *रायफल के लिए 30 हजार, डबल बैरल के लिए 20 हजार व सिंगल बैरल के लिए 10 हजार रुपये की एनएससी ली जाएगी-* शस्त्र लाइसेंस के लिए शासनादेश जारी होने के बाद पूर्व आवेदकों को भी नया आवेदन करना होगा, दरअसल शासनादेश के तहत पुराने सभी लाइसेंस के आवेदन निरस्त कर दिए गए हैं। असलहा का शौक रखने वालों को ज्यादा जेब ढीली करनी होगी। रिवाल्वर/ पिस्टल के लाइसेंस के आवेदन की फीस बढ़ा दी गई है। इसी तरह सिंगल और डबल बैरल बंदूक के लिए अब अधिक खर्च आएगा। असलहा लाइसेंस के लिए बड़ी तादाद में लोग कलेक्ट्रेट पहुंचकर फार्म की मांग कर रहे हैं। 15 अक्टूबर से असलहा विभाग से 200 रुपये में फार्म प्राप्त होंगे।। *रिवॉल्वर के लिए देनी होगी 50 हजार की एनएससी-* रिवॉल्वर अथवा पिस्टल का लाइसेंस बनवाने के लिए आवेदकों को अब 50 हजार रुपये की एनएससी देनी होगी। रायफल के लिए 30 हजार, डबल बैरल के लिए 20 हजार और सिंगल बैरल के लिए 10 हजार रुपये की एनएससी ली जाएगी।। *लाइसेंस धारक को मिलेंगे 200 कारतूस-* अभी तक रिवॉल्वर और पिस्टल धारकों को प्रतिवर्ष 25 कारतूस मिलते थे लेकिन अब वे 200 कारतूस खरीद सकेंगे। वहीं रायफल धारक 75 कारतूस खरीद सकेंगे। शस्त्र खरीदने वाले लोग पहली बार में 100 कारतूस एक साथ ले सकेंगे जबकि शेष 100 कारतूस खरीदने पर खोखे भी वापस नहीं करना होगा। पुराने लाइसेंस धारकों को नए कारतूस खरीदने पर 80 फीसद खोखे वापस करने होंगे।। *रिवॉल्वर व पिस्टल का शुल्क:-* 50 हजार रुपये की एनएससी- 4000 रुपये रायफल क्लब- 2000 रुपये स्टैंप के लिए- 1000 रुपये की रसीद-- 500 रुपये जिला क्रीड़ा समिति- 500 रुपये रेड क्रॉस सोसाइटी- *रायफल का शुल्क:-* 30हजार रुपये की एनएससी- 4000रुपये रायफल क्लब- 1500रुपये का स्टैंप- 1000रुपये की रसीद- 500रुपये जिला क्रीड़ा समिति- 500रुपये रेड क्रॉस सोसाइटी- *डबल बैरल बंदूक की फीस:-* 20हजार रुपये की एनएससी- 3500रुपये रायफल क्लब- 1000रुपये की रसीद- 1000 रुपये का स्टैंप- 250रुपये जिला क्रीड़ा समिति- 250रुपये रेड क्रॉस सोसाइटी- *सिंगल बैरल बंदूक का शुल्क:-* 10 हजार रुपये की एनएससी- 3500 रुपये रायफल क्लब- 1000 रुपये का चालान- 1000 रुपये का स्टैंप- 250 रुपये जिला क्रीड़ा समिति- 250 रुपये रेड क्रॉस सोसाइटी- *रिपोर्ट by...... Raj Patel*
2k ने देखा
10 महीने पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post