🙋‍♂️ अशोक गहलोत

🙋‍♂️ अशोक गहलोत

930
1K पोस्ट
121.7K जण देख्या
🙋‍♂️ अशोक गहलोत
जयपुर. प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को कहा है कि लॉकडाउन के कारण कोई अभिभावक आर्थिक स्थिति के चलते फीस जमा नहीं करा पाता है तो निजी स्कूल ऐसे विद्यार्थी का नाम नहीं काटें। यदि कोई स्कूल ऐसा करता है तो राज्य सरकार उसकी मान्यता निरस्त कर सकती है। उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग इस बात का भी परीक्षण कराए कि निजी स्कूल विद्यार्थियों को फीस एवं अन्य शुल्कों में किस प्रकार राहत दे सकते हैं और उन विद्यालयों का संचालन प्रभावित नहीं हो। सीएम गहलोत शुक्रवार को मुख्यमंत्री निवास पर वीडियो कांफ्रेंस के जरिए स्कूल शिक्षा, उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से जुड़े विषयों पर समीक्षा कर रहे थे। सीएम गहलोत ने कहा कि, निजी स्कूल विद्यार्थियों को फीस और अन्य शुल्क में किस प्रकार राहत दे सकते हैं, इस बात का परीक्षण शिक्षा विभाग द्वारा करवाया जाए।  उन्होंने कहा कि, बोर्ड परीक्षाओं का निर्णय सीबीएसई के अनुरूप लिया जाएगा।  साथ ही, उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि, ग्रीष्म अवकाश में मिड-डे मीलका पारदर्शी तरीके से वितरण किया जाना चाहिए। #🙋‍♂️ अशोक गहलोत
#🙋‍♂️ अशोक गहलोत
#🙋‍♂️ अशोक गहलोत
#🙋‍♂️ अशोक गहलोत
#🙋‍♂️ अशोक गहलोत
#🙋‍♂️ अशोक गहलोत
#🙋‍♂️ अशोक गहलोत
#🙋‍♂️ अशोक गहलोत
#🙋‍♂️ अशोक गहलोत
#🙋‍♂️ अशोक गहलोत