पुलवामा पर इमरान का बयान
#

पुलवामा पर इमरान का बयान

Ꮑεεʟαm chєchí राजनीतिक चर्चा पोस्ट और विडियो में टॉपर क्रिएटर एक बार मुझे फॉलो करो फिर मेरी प्रोफाइल पर जादू देखो😘ये प्रोफाइल सत्य (निजी खाता) है कृपया कर के Unfollows ना करें😋और बेहतरीन पोस्ट देखने के लिए, प्रोफाइल पर जाएUn follow कर के क्या करोगेजोक्स , मजेदार विडियो देखो मौज लो।《═══❥☞fσℓℓσω мє☜❥═══》 ✿✿═✿═✿═✿═✿═✿═✿═✿✿✪✪╰◎✪ MAITY✿◎╯✪ ┌════❥❥❥❥════❥❥❥══┐└═㉨ι ℓσνє ѕнαяє ¢нαт㉨══┘✪☞अच्छी अच्छी 🅟🅞🅢🅣पाने के लिए ✪☞fσℓℓσω करे☜✪
#पुलवामा पर इमरान का बयान आंख का अंधा, नाम नयनसुख। यह कहावत पाकिस्तान पर अक्षरशः चरितार्थ होती है। पाक नाम धारित कर निहायत ही नापाक मंसूबों ने उसे बेज़मीर महज़ एक ज़मीन का टुकड़ा मात्र, और विश्वपटल पर हास्य का पात्र बना दिया है। भारत के MFN दर्जा छीनते ही औरआपसी व्यापार में करों की उदारता समाप्त करते ही, उसकी हेकड़ी गुम होना शुरू हो गई है। पर कहते हैं न रस्सी जल जाती है, पर उसका बल नही जाता। पाक के समस्त बोल खिसियानी बिल्ली खम्भा नोचे वाली है। पाकिस्तान की आम जनता में दहशत का माहौल है। पाकिस्तान के हर कम्प्यूटर में भारतीय वायु सेना के विमान उड़ाकर , भारतीय हैकरों तक ने उसकी औकात बता दी है। दो जून की रोटी को मुहाल कंगाल पाकिस्तान, विश्व की सबसे बड़ी छठी अर्थव्यवस्था से युद्ध का हठ पाले, इसका तर्क वहां की जाहिल सेना, और मगरूर सरकार के अलावा, वहाँ की आवाम तक को नही हो पा रहा। भारत ने असैन्य कदमों में ही अभी बहुत से विकल्पों को आजमाया नही है। अभी सिंधु का पानी यदि रोक दिया जाए तो वो क्या करेगा? हठधर्मिता ने उस असफल राष्ट्र के विचारतन्तु को ही शिथिल कर दिया है, न तो वह सोच पा रहा है, न निर्णय ले पा रहा है।
218 ने देखा
8 महीने पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post