23 अगस्त की न्यूज़
#

23 अगस्त की न्यूज़

भारत मे जातिवाद से दरकती लोकतंत्र की दीवारेहरदोई से बरिष्ठ पत्रकार लक्ष्मीकांत पाठक की कलम से हरदोई।भारत देश और यहाँ की मिट्टी की समरसता की विश्व मे कोई सानी नही रही है। यहां बहु धर्म ,विभिन्न जाति, वर्ग के होते हुये भी देश शान्ति का पैगाम देता चला आ रहा था।लेकिन भारत की खादी ने अपनी अपनी दुकानों को चलाने के लिये अपने अपने हिसाब से समाज को तोडने के हथकंडे अपनाकर अपना व अपने निजी स्वार्थ को साधने का काम किया। देश हित समाज हित पर किसी ने ध्यान नही दिया।कानून सविधान सब अपने अनुकूल बना लिये जिससे वह भी डर समाप्त हो गया। भारतीय सविधान मे समता का अधिकार ,देकर भी अधिकार नही है।सविधान मे एक शब्द लिखा गया धर्मनिरपेक्ष शायद इसका अर्थ सभी धर्मो का सममान करना होगा लेकिन भारत की राजनीति मे कानून कायदा केवल कागजो तक ही सीमित है। आज जब भाजपा सरकार सत्तारूढ़ है तो पूरा विपक्ष भाजपा पर मुस्लिम विरोधी सरकार का तोहमत मढती रहती है लेकिन  यही काग्रेंस  कुर्सी के लोभ मे इतना गिर गयी की मां भारती के दो भाग कर दिये।लेकिन कुर्सी नही छोडी। आजादी का जश्न मनाने वाला भारत कभी आजाद हुआ ही नही केवल रग बदला गोरै से काले हो गये लेकिन फूट डालो राजकरो की नीति भारतीय राजनीति से जा ही नही पायी। समाज बाटने मे क्षेत्रीय दलो का अहम रोल रहा हैँ।समाज वादी पार्टी के सस्थापक मुलायम सिह ने पिछडी जाति को समाज से तोडकर राजनीति की और वही तत्कालिन प्रधानमंत्री वीपीसिंह ने मजबूती प्रदान कर दी।दूसरी तरफ भाजपा द्वारा पोषित बहुजन समाज पार्टी नै केवल दलित राजनीति कर अपनी राजनीतिक रोटियां सेक तिजोरियों को भरा। समाज को विभिन्न सरकारों ने वोटबैंक को साधने के लिये वर्ग बिशेष की राजनीति कर छिन्न भिन्न कर डाला। जिसने समाज मे एकरूपता लाने के बजाय आज बटवारे की स्थिति खडी कर दी है।पिछडा दलित, सबर्णो मे बटा हिन्दू समाज देश को कैसे आगे ले जा सकता है।इसी समस्या से निपटने के लिए अगडो पिछडो ने भाजपा पर भरोसा व्यक्त कर प्रचण्ड बहुमत से सत्ता मे लाये लेकिन दलित प्रेम के चक्कर मे फसी सरकार ने समाज के 78% लोगो के खिलाफ एससी/एसटी विल लाकर लोगो को निराश कर अपने पैरो मे कुल्हाड़ी मारने से कतई कम नही है।जिस तरह भाजपा के प्रति अगडो पिछडो मे पनपता आक्रोश भाजपा को अर्श से फर्श पर ला सकता है  जिसके लिये गुजरात की जुगलबंदी ही जिम्मेदार होगी।जिस देश समाज के लिये अपनी जान निछावर करने वाले शहीदों ने भी शायद यह नही सोचा होगा कि जिस धरती माता के लिये बलिवेदी पर चढ कर जान निछावर कर रहे है उसकी खादी द्वारा इतनी  बुरी गति की जायेगी।आजादी से अबतक जितनी सरकारे सत्ता मे आयी विभाजन के अलावा  दूसरा काम ही नही किया जबकि शपथ लेते समय देश की एकता अखण्डता भारतीय सविधान के प्रति सच्ची निष्ठा की शपथ लेकर सविधान की आत्मा को मारने के लिये रात दिन एक किये रहते है।जैसा की बर्तमान सरकार ने किया है।इन आचरणो से समाज मे बढती बैमन्स्व की  भावना देश को विभाजन की ओर ले जाती दिखायी दे रही है।
127 ने देखा
1 साल पहले
#

23 अगस्त की न्यूज़

आज के समाचार : 1.राम रहीम को झटका, 400 साधुओं को नपुंसक बनाने के मामले में जमानत याचिका खारिज पंचकूलाः CBI कोर्ट ने गुरमीत राम रहीम की जमानत याचिका ठुकराई 2. ASIANGAMES: स्क्वैश में पुरुष एकल के अंतिम 8 में पहुंचे सौरव और हरिंदर 3 . प्रकाश जावड़ेकर ने अपनी एक महीने की सैलरी केरल बाढ़ पीड़ितों को दान की 4 . भारतीय महिला क्रिकेटर झूलन गोस्वामी ने टी-20 क्रिकेट से लिया संन्यास 5 . ASIANGAMES: कबड्डी सेमीफाइनल में भारत की हार, ईरान ने 27-18 से हराया 6. Asian Games: शार्दुल विहान ने शूटिंग में भारत के लिए सिल्वर जीता 7 . Asian Games: टेनिस में अंकिता ने भारत को दिलाया कांस्य 8 . टेस्ट रैंकिंग: 937 अंक के साथ नंबर एक पर विराट कोहली बरकरार 9 . अमृतसर: वाघा बॉर्डर पर स्कूली छात्राओं ने जवानों के साथ रक्षाबंधन मनाया 10 . मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: अगली सुनवाई 27 अगस्त को होगी 11 . गोवा सरकार ने केरल बाढ़ राहत के लिए दिए 5 करोड़ रुपये 12. पटनाः लाल जी टंडन ने बिहार के राज्यपाल पद की शपथ ली 13. श्रीनगर: सत्यपाल मलिक ने जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल का पदभार संभाला 14. वरिष्ठ पत्रकार कुलदीप नैयर का 95 साल की उम्र में निधन
746 ने देखा
1 साल पहले
#

23 अगस्त की न्यूज़

*🌀23 अगस्त की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ🌀* जर्मनी के योहानेस गुटेनबर्ग ने 1456 में आधुनिक ढंग के दुनिया के पहले छापाखाने से बाइबिल की पहली प्रति छापी जो गुटेनबर्ग बाइबिल के नाम से प्रसिद्ध हुई। मेक्सिको ने 1821 में आजादी की घोषणा की। ब्रिटेन ने 1839 में चीन के साथ युद्ध में हांगकांग पर कब्जा किया। जापान द्वारा 1914 में जर्मनी के विरुद्ध युद्ध की घोषणा। स्पेन के खिलाफ मोरक्को में 1922 को विद्रोह हुआ। तुर्की ने 1922 को एफ्योन में ग्रीक ताकतों के खिलाफ बड़े पैमाने पर हमले आरंभ कीए। तत्कालीन सोवियत संघ और जर्मनी के के बीच गैर-आक्रामकता संधि पर 1939 को हस्ताक्षर किये गये। युनान के राष्ट्रपति दिमित्रियो मैक्सिमोज ने 1947 में त्यागपत्र दे दिया। वल्लभभाई पटेल 1947 में भारत के उप प्रधानमंत्री बने। चीन में 1976 को भूकंप से हजारों लोगों की मौत। ईरान की सेना ने 1979 में कुर्दों के खिलाफ मोर्चा खोला। इराक के सरकारी टेलीविजन पर 1990 में सद्दाम हुसैन के पश्चिम बंदियों के साथ दिखाए जाने के कारण काफी बवाल हुआ। पूर्व और पश्चिम जर्मनी ने 1990 में तीन अक्टूबर को एकजुट होने की घोषणा की। आर्मेनिया ने 1990 में स्वतंत्रता की घोषणा की। सन् 2000 के ऐतिहासिक ओलंपिक खेलों की मेजबानी आस्ट्रेलियाई नगर सिडनी को 1993 में सौंपी गई। सं.रा.अमेरिका के मिसीसिपी यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर को 1997 में चार साल पहले मिला हल्दी का पेटेन्ट रद्द। इस्रायल और फ़िलिस्तीन के बीच मान्यता सम्बन्धी मुद्दों पर 1999 में वार्ता पुन: प्रारम्भ। पूनिया हत्याकान्ड जिसमें भारतीय राजनेता रेलू राम पूनिया और उनके परिवार के सात सदस्यों की 2001 में सामूहिक हत्या हुई थी। संयुक्त राज्य अमरीका ने 2002 में मिसाइल रक्षा प्रणाली का परीक्षण रोका, इटली ने पाकिस्तान में वाणिज्य दूतावास बन्द करने की धमकी दी। ब्राजील में एक अंतरिक्ष यान में प्रक्षेपण से पूर्व ही विस्फोट हो जाने से कम से कम 21 लोग मारे गये, पाकिस्तान के राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ़ ने 2003 में घोषित किया कि पाकिस्तान न्यूनतम सुरक्षात्मक हथियार क़ायम रखेगा। अमेरिका के जस्टिन गैटलिन 2004 में 100 मीटर फर्राटा दौड़ जीतकर पृथ्वी के सबसे तेज धावक बने। चिली के निकोलस मासु ने अमेरिका के मार्डी फ़िश को हराकर ओलम्पिक पुरुष एकल टेनिस का स्वर्ण पदक जीत लिया। आस्ट्रिया की नताशा काम्पुश अपहरणकर्ता वोल्फगांग प्रिकलोपिल के बंधन से 2006 में आठ साल बाद भागने में सफल रही। यूनेस्को के विश्व स्मृति रजिस्टर-2007 में ऋग्वेद की 30 पांडुलिपियाँ शामिल की गईं। पाकिस्तान के सर्वोच्च न्यायालय ने निर्वासित जीवन व्यतीत कर रहे पाकिस्तान के पूर्व मुख्यमंत्री नवाज शरीफ़ को स्वदेश वापसी की अनुमति दी। झारखण्ड के मुख्यमंत्री मधुकोड़ा ने 2008 में अपने पद से इस्तीफा दिया। उत्तर प्रदेश सरकार ने 2008 में प्रदेश महिला आयोग में 16 सदस्यों को नामित किया। चीनी विज्ञान अकादमी के वैज्ञानिकों ने 2011 में ब्रह्मपुत्र और सिंधु नदी के उद्गम स्थल का पता लगाया तथा उनके मार्ग की लंबाई का व्यापक उपग्रह अध्ययन पूरा किया। राजस्थान में 2012 को भारी बारिश से 30 लोगों की मौत हुई। लेबनान के त्रिपोली में मस्जिद पर 2013 को हुये हमले में 50 लोग मारे गए। *23 अगस्त को जन्मे व्यक्ति👉* – फ्रांस के प्रसिद्ध कवि और साहित्यकार आंद्रे शनीये का जन्म 1762 को हुआ था। प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी और आंध्रा राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री टी. प्रकाशम का जन्म 1872 को हुआ था। स्वतंत्रता सेनानी एवं चंपारण सत्याग्रह के प्रमुख लोगों में से एक राजकुमार शुक्ल का जन्म 1875 में हुआ। बेसबॉल खिलाड़ी जॉर्ज केल का जन्म 1922 में हुआ। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व लोकसभा अध्यक्ष बलराम जाखड़ का जन्म 1923 को हुआ था। प्रसिद्ध हिंदी फ़िल्म अभिनेत्री सायरा बानो का जन्म 1944 को हुआ था। नौवीं लोकसभा के सदस्य सुखदेव नंदाजी काले का जन्म 1955 को हुआ था। *23 अगस्त को हुए निधन👉* – प्रसिद्ध शास्त्रीय संगीत गायक विनायकराव पटवर्धन का निधन 1975 को हुआ था। भारत की प्रसिद्ध महिला तैराक आरती साहा का निधन 1994 को हुआ था।
2.3k ने देखा
1 साल पहले
कोई और पोस्ट नहीं हैं
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post