इतिहास के पन्ने
गंगा को नदी न मानकर हिन्दूओ ने माता का दर्जा प्रदान किया है यह पापनाशनी भी कहलाती है क्योकी हिन्दूओ मे मान्यता है की ये उनके पाप धोती है। एक बार गंगा मे डुबकी लगाने से जीवन भर के पाप धुल जाते है। और कोई भी हिन्दू धर्म को मानने वाला व्यक्ति चाहे वो देश मे हो या विदेश मे अपनी अन्तिम क्रिया के बाद अपनी अस्थियो को गंगा मे विसर्जित करवाना अपना मोक्ष समझता है। " परंतु इस आर्यव्रत मे गंगा के अलावा भी एक अती पूजनीय नदी है जिसका नाम है "सिन्धु नदी" जिसके किनारे हिन्दूओ का उदगम हुआ। सनातन धर्म को हिन्दू की पहचान सिन्धु नदी से ही ही मिली है। यह नदी इस ऐशिया की सबसे बडी नदी है। जो पकिस्तान, भारत (जम्मू और कश्मीर ) और चीन (पश्चिम तिब्बत) के माध्यम से बहती है। सिन्धु नदी का उद्गम स्थल तिब्बत के मानसरोवर के निकट "सिन का बाब"जलधारा के निकट माना जाता है। अब इस नदी का सबसे ज्यादा अंश पकिस्तान मे प्रवाहित होता है। और ये पकिस्तान की सबसे बडी और राष्ट्रिय नदी है। "सिन्धु नदी को हमारे पुराणो मे गंगा के बराबर ही पवित्र माना गया है। क्योकी इस देश की पहचान इस नदी से जुडी हुई है। इसी नदी के किनारे एक विशाल, सम्रद्ध और प्राचीन सभ्यता विकसित हुई । जिसे (सिन्धु घाटी सभ्यता) के नाम से जाना गया। जो लगभग 8000 वर्ष पुरानी है। "मोहनजोदारो,हड़प्पा,कालीबंगा, लोथल,धोलावीरा और राखीगड़ी इसके प्रमुख शहर थे।इतिहासकारो के अनुसार यह सबसे प्राचीन और सबसे विकसित सभ्यताओ मे से एक थी ।उए शहर अनेक बार उजडे और आबाद हुए। 7 वी शताब्दी मे पेहली बार जब लोगो ने पंजाब प्रांत मे ईटो के लिये मिट्टी की खुदाई की तब वहा से उन्हे बनी बनाई ईटे मिली जिसे लोगो ने भगवान का चमत्कार माना और उनका उपयोग घर बनाने मे किया । 1921 मे दयाराम साहनी ने इसका उत्खनन किया और इसका नाम हड़प्पा सभ्यता कर दिया गया। #इतिहास के पन्ने #Historical India
#

इतिहास के पन्ने

इतिहास के पन्ने - ShareChat
132 ने देखा
1 दिन पहले
#इतिहास के पन्ने
#

इतिहास के पन्ने

1770 में छपा था देश का पहला नोट !! देखिए, ऐसे होते थे आजादी से पहले के भारतीय नोट
आज हम 500 और 2000 रूपए के नए नोट देख रहें है और उन्हें देखकर हमे लग रहा है कि ये कितने स्टाइलिश और हटकर है। इन नए नोटों को लेकर सभी काफी उत्सुक भी नजर आ रहें है। लेकिन क्या आपको पता है कि देश की आजादी के पहले ये ऐसे नोट नहीं थे, तब इनकी छपाई और स्वरुप आज की तुलना में बहुत भिन्न हुआ करता था। पहले के नोट को यहां की कुछ रियासते और संस्थाएं चलाती थी, हालांकि सम्पूर्ण भारत में एक ही नोट का प्रचलन 1770 में हुआ था। जो कि देश का पहला नोट माना जाता है। तों आइए आज हम आपको दिखाते है भारत के उन प्रचलित नोटो की तस्वीरें जिन्हें शायद ही आप सभी में से किसी ने देखा होगा
189 ने देखा
3 महीने पहले
#

इतिहास के पन्ने

273 ने देखा
7 महीने पहले
#

इतिहास के पन्ने

🌞 16 सितंबर   🌞 ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार 16 सितंबर वर्ष का 259 वाँ (लीप वर्ष में यह 260 वाँ) दिन है। साल में अभी और 106 दिन शेष हैं। 🌞 16 सितंबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ 1810 - निगवेल हिदाल्गो ने स्पेन से मैक्सिको की आज़ादी के लिए संघर्ष शुरु किया। 1821 - मैक्सिको की स्वतंत्रता को मान्यता मिली। 1908 - 'जनरल मोटर्स निगम' की स्थापना की गई। 1947 - टोक्यो के सईतामा में चक्रवाती तूफान कैथलीन से 1,930 लोगों की मौत हो गई। 1975 - केप वर्डे, मोजाम्बिक, साओ टोमे और प्रिंसिप संयुक्त राष्ट्र में शामिल हुए। 1975 - पापुआ न्यू गिनी ने आस्ट्रेलिया से स्वतंत्रता हासिल की। 1978 - जनरल जिया उल हक़ पाकिस्तान के राष्ट्रपति निर्वाचित। 2003 - भूटान ने भारतीय हितों के ख़िलाफ़ अपनी ज़मीन के इस्तेमाल नहीं होने देने का आश्वासन दिया। 2007 - पाकिस्‍तान के मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त ने परवेज मुशर्रफ़ के राष्‍ट्रपति पद पर दुबारा चुनाव लड़ने के लिए चुनाव से जुड़े क़ानूनों में संशोधन किया। 2007 - वन टू गो एयरलांइस का विमान थाईलैंड में दुर्घटनाग्रस्त होने से 89 लोगों की मौत। 2008 - भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल) के कर्मचारियों को विश्वकर्मा पुरस्कार प्रदान किया गया। 2009 - दुनिया भर के समक्ष भारत के एक उत्कृष्ट पर्यटन स्थल के रूप में पेश करने वाले अतुल्य भारत विज्ञान अभियान को ब्रिटिश पुरस्कार मिला। 2013 - वाशिंगटन में एक बंदूकधारी ने नौसेना के एक शिविर में 12 लोगों की गोली मारकर हत्या की। 2014 - इस्लामिक स्टेट ने सीरियाई कुर्दिश लड़ाकों के खिलाफ युद्ध छेड़ा। 🌞 16 सितंबर को जन्मे व्यक्ति 1880 - अलफ्रेड नॉयस- ब्रिटिश लेखक, कवि और नाटककार। 1882 - बलवंत सिंह- स्वतंत्रता सेनानी। 1916 - एम. एस. सुब्बुलक्ष्मी- प्रसिद्ध भारतीय गायिका और अभिनेत्री। 1920 - आर्ट सैनसम- अमेरिकी कॉर्टूनिस्ट। 1931 - आर. रामचंद्र राव- क्रिकेट अंपायर। 1977 - सुशील आनंद- भारतीय अभिनेता। 1968 - प्रसून जोशी - भारतीय सिनेमा के प्रसिद्ध गीतकार। 1893 - श्यामलाल गुप्त 'पार्षद'- झण्डा गीत 'विजयी विश्व तिरंगा प्यारा' के रचयिता। 🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞 JITENDRA KUMAR VERMA phone:+919453851224
752 ने देखा
11 महीने पहले
अन्य एप्स पर शेयर करें
Facebook
WhatsApp
लिंक कॉपी करें
डिलीट करें
Embed
मैं इस पोस्ट का विरोध करता हूँ, क्योंकि ये पोस्ट...
Embed Post